Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal Case
दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

Loading

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal) के लिए आबकारी नीति घोटाला (Money Laundering Case) से जुड़ा मनी लांड्रिंग मामला गले की फांस बना बैठा है। वहीं आज का दिन केजरीवाल के लिए थोड़ा राहत भरा होने वाला है।

दरअसल, गिरफ्तारी के बाद आज (सोमवार, 1 अप्रैल) दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की रिमांड अवधि समाप्त हो रही है। प्रवर्तन निदेशालय की टीम सोमवार को केजरीवाल को राउज एवेन्यू (Rouse Avenue) की विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा के समक्ष पेश करेगी।

बता दें, अदालत ने 28 मार्च को केजरीवाल की चार दिन की रिमांड बढ़ा दी थी। इससे पहले 21 मार्च को गिरफ्तार किए गए केजरीवाल को ईडी ने 22 मार्च को अदालत में पेश किया था और अदालत ने केजरीवाल को छह दिन की ईडी कस्टडी में भेज दिया था।

ये है मामला
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद पर ईडी का आरोप है कि आबकारी नीति में बदलाव के बदले केजरीवाल ने दक्षिण समूह के शराब व्यापारियों से 100 करोड़ रुपये के रिश्वत की मांग की थी और उक्त धनराशि का इस्तेमाल गोवा व पंजाब विधानसभा में खर्च किया गया था।

वहीं बचाव में केजरीवाल ने ईडी की गिरफ्तारी व कस्टडी को हाई कोर्ट में चुनौती है। मामले पर तीन अप्रैल को सुनवाई होनी है। इसी मामले में आप के बड़े चेहरे जैसे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह (Sanjay Singh) पहले से न्यायिक हिरासत में जेल बंद है। ऐसे में सर पर खड़े लोकसभा चुनाव के बीच ये मामला आप के लिए बड़ी चुनौती बन सकता है।