gujarat
Pic: ANI

    नई दिल्ली/वडोदरा. आज देश (India) में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) मनाई जा रही है. गौरतलब है कि, मकर संक्रांति उन त्योहारों में से एक है जो साल की शुरुआत में ही मनाए जाते हैं। दरअसल सूर्य देवता को अर्घ्य देने के साथ ही तमाम धर्मों में इसे नए साल की शुरुआत के रूप में ही मनाया जाता है। वहीं आमतौर पर मकर संक्रांति हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है और इस दौरान देशभर में पतंगबाजी का माहौल रहता है।

    ऐसे में आज गुजरात में भी मकर संक्रांति धूमधाम से मनाई जा रहगी है। वहीं त्यौहार के इस ख़ास मौके पर वडोदरा के बाजारों में रंग-बिरंगी पतंगों की बहार आई हुई है. वैसे भी इस राजत में मकर संक्रांति की छठा देखते ही बनती है। यहां आप जीवंत पतंगों को जनवरी के साफ आसमान में उड़ते और मंडराते देखते हैं। इस त्योहार के दौरान सभी आकार और रंग की पतंगें देखने को मिलती हैं। इन पतंगों के अलावा स्थानीय व्यंजनों जैसे उंधियो, जड़ों, बीन्स और सब्जियों से बने भोजन का भी लुत्फ उठाया जा सकता है।

    वहीं गुजरात के उत्तरायण के इस अवसर पर राजकोट के प्रसिद्ध स्वामी नारायण मंदिर में भगवान स्वामी नारायण को रंग-बिरंगे पतंगों से सजाया गया है। यहां  मकर संक्रांति को लेकर बीते शुक्रवार को मंदिर को 2000 से ज्यादा पतंगों से सजाया गया। यह सिर्फ त्योहार नहीं बल्कि हिंदू परंपरा का एक अटूट हिस्सा है।

    हालांकि वहीं गुजरात में बीते साल मकर संक्रांति के  अवसर पर बीते शुक्रवार को पतंग उड़ाने से संबंधित घटनाओं में 60 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे । तब  108 आपात एंबुलेंस सेवा ने 63 लोगों को अस्पतालों तक पहुंचाया था । इनमें से ज्यादातर सड़क पर आने-जाने वाले लोग थे। सार्वजनिक स्थलों में खतरनाक ढंग से लटक रहे पतंग के मांझे से उनके गले और चेहरे पर घाव लग गए थे।