Hardik Patel
File Photo

    अहमदाबाद: गुजरात के पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने कांग्रेस (Congress) से इस्तीफा देने के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, ‘मुझे कांग्रेस पर जो भरोसा था, उसपर न तो वो खरे उतरे न मैं खरा उतर पाया। उन्होंने कहा, पार्टी में रहकर न मुझे काम करने का मौका मिला न उन्होंने मुझे कभी काम दिया। उन्होंने यह भी कहा कि, हमने काम मांगा तभी तो उनको समस्या आ गई, अगर पद मांगा होता तो शायद दे देते।   

    मैंने अपने राजनीतिक जीवन के 3 साल बिगाड़े

    इस्तीफे पर हार्दिक पटेल ने कहा, जब इस्तीफा देने की बात आई तो बड़ी हिम्मत से देना पड़ा। कांग्रेस में रहकर मैंने अपने राजनीतिक और सामाजिक जीवन के 3 साल बिगाड़े, मैं अगर बाहर भी होता तो प्रदेश के हितों के लिए और भी ज्यादा काम कर सकता था। 

    उद्योगपति अपनी मेहनत से बना है

    कांग्रेस के उद्योगपतियों की सरकार वाले बयान पर निशाना साधते हुए हार्दिक पटेल ने कहा, ‘कोई उद्योगपति अपनी मेहनत से बना है, अगर कोई उद्योगपति मेहनत करता है तो हम उसपर ये लांछन नहीं लगा सकते कि सरकार उसको मदद कर रही है। आप हर मुद्दे पर अडानी, अंबानी को गाली नहीं दे सकते। अगर प्रधानमंत्री गुजरात से हैं तो आप उसका गुस्सा अडानी, अंबानी पर क्यों डाल रहे हैं। 

    अच्छा चिकन सैंडविच मिलता है

    उन्होंने आगे कहा, मैंने उनसे(राहुल गांधी) कई बार कहा कि यहां आपको उद्योग पर गाली नहीं देनी चाहिए। आपको लोकल मुद्दों को लेकर राजनीति में आगे बढ़ना होगा। लेकिन यह उन्होंने कभी नहीं किया। हां, आपको नेताओं ने लोकल मुद्दे बताने की जगह कहां से अच्छा चिकन सैंडविच मिलता है, वो बताया होगा। 

    कांग्रेस पार्टी से दिया इस्तीफा 

    बता दें कि, बीते बुधवार को नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने ट्विटर के जरिए  यह जानकरी दी थी। जिसमें उन्होंने लिखा था, ‘आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूँ। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊँगा।’