suspended,

    भोपाल: मध्य प्रदेश सरकार ने इस साल छह मई को ग्वालियर हवाई अड्डे पर हुए विमान दुर्घटनाग्रस्त के मामले में अपने वरिष्ठ पायलट माजिद अख्तर को ‘गंभीर लापरवाही’ बरतने के लिए निलंबित कर दिया है।

    मध्य प्रदेश शासन के विमानन विभाग के सचिव एम सेलवेन्द्रन द्वारा हाल ही में जारी आदेश में कहा गया है, ‘‘विमान के वरिष्ठ पायलट कैप्टन माजिद अख्तर द्वारा गंभीर लापरवाही के कारण शासकीय विमान छह मई 2021 को दुर्घटनाग्रस्त हुआ और शासन को क्षति हुई जिसकी वजह से उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई अपेक्षित है। अतएव, मध्य प्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के नियम-9 के उप नियम (1) (क) के अधीन प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।”

    मध्य प्रदेश सरकार ने पिछले साल इस विमान को अमेरिकी कंपनी ‘टेक्ट्रॉन एविएशन’ से करीब 65 करोड़ रुपये में खरीदा था। यह सात सीटों वाला बीचक्राफ्ट किंग एयर बी-200जीटी वीटी एमपीक्यू विमान था।  इस आदेश में आगे कहा गया है कि निलंबन अवधि में आदेश के प्रभावशील रहते हुए अख्तर का मुख्यालय भोपाल रहेगा।  इस बारे में सेलवेन्द्रन ने फोन पर जवाब नहीं दिया। हालांकि, मध्य प्रदेश विमानन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अख्तर को निलंबित किये जाने की पुष्टि की है।

    इससे पहले अगस्त में नागर विमानन महानिदेशलय (डीजीसीए) ने इस विमान दुर्घटना के मामले में अख्तर का फ्लाइंग लाइसेंस एक साल की अवधि के लिए निलंबित कर दिया था। गुजरात से कोविड-19 मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन ला रहा मध्य प्रदेश सरकार का यह विमान ग्वालियर हवाईअड्डे पर इस साल छह मई को उतरते वक्त रनवे फिसलकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

    इस हादसे में विमान का मुख्य पायलट माजिद अख्तर, सह पायलट शिवशंकर जायसवाल एवं नायब तहसीलदार दिलीप द्विवेदी को चोटें आई थी।  यह हवाईअड्डा महाराजपुर वायुसेना स्थित एक सैन्य हवाईअड्डा है, जहां से नागरिक विमान भी उड़ान भरते हैं।इस विमान क्षेत्र का संचालन भारतीय वायुसेना एवं भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण करता है। (एजेंसी)