Digvijay singh
File Pic

    भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह की मुश्किलें बढ़ गई है। उनके खिलाफ विवादित ट्वीट करने को लेकर मामला दर्ज किया गया है। खरगोन और बड़वानी में हुए साम्प्रदायिक हिंसा को लेकर किए गए विवादित ट्वीट को लेकर भोपल क्राइम ब्रांच ने उनके खिलाफ FIR दर्ज कर ली है।

    कांग्रेस नेता ने रामनवमी पर हुई सांप्रदायिक हिंसा को लेकर एक ट्वीट किया था, जिसमें एक मस्जिद पर भगवा झंडा फहराते दिख रहे कुछ हिंदू संगठन के लोग वाली तस्वीर थी। साथ ही लिखा था, “क्या तलवार लाठी लेकर धार्मिक स्थल पर झंडा लगाना उचित है? क्या खरगोन प्रशासन ने हथियारों को लेकर जुलूस निकालने की इजाजत दी थी? क्या जिन्होंने पत्थर फेंके चाहे जिस के हों सभी के घर पर बुलडोजर चलेगा? शिवराज जी मत भूलिए आपने निष्पक्ष होकर सरकार चलाने की शपथ ली है।”

    Koo App

    श्री दिग्विजय सिंह जी ने जो धार्मिक स्थल पर झण्डा फहराने का ट्वीट किया, वह फोटो मध्यप्रदेश का नहीं है। उन्होंने मध्यप्रदेश में धार्मिक उन्माद फैलाने और दंगों की आग में झोंकने की साजिश की है। मेरे प्रदेश में दंगा फैलाने की कोई साजिश करेगा, तो वो कोई भी हो, बर्दाश्त नहीं करूंगा।

    Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 12 Apr 2022

     

    बता दें कि दिग्विजय सिंह ने ट्वीट में जो मस्जिद वाली तस्वीर पोस्ट की है वो खरगोन की नहीं मुजफ्फरपुर बिहार की है। जिसे लेकर वह घिर गए हैं। सिंह ने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया है।

    इस ट्वीट को लेकर अब भोपाल क्राइम ब्रांच ने दिग्विजय सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-ए, 295ए (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य, जिसका मकसद किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करना है), 465, और 505(2) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।