Digvijay Singh gave a controversial statement on Savarkar, said - he did not believe in cow as mother, did not even refrain from eating beef
File

    भोपाल/ इंदौर: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के खरगोन कस्बे में हुई सांप्रदायिक हिंसा (Khargone Violence Tweet) पर टिप्पणी करते हुए दूसरे राज्य की एक मस्जिद की तस्वीर ट्वीट करने को लेकर कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खिलाफ चार और मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदेश में अब तक कुल नौ प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। 

    ताजा प्राथमिकी में से तीन बुधवार शाम को इंदौर जिले के महू, किशनगंज और खुड़ैल थाने में दर्ज की गई हैं। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सौनी ने बताया कि चौथा मामला बैतूल जिले के कोतवाली थाने में दर्ज किया गया है। विवादास्पद ट्वीट को लेकर राज्य में लगातार मामले दर्ज किए जाने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने इंदौर में संवाददाताओं से कहा,‘‘भले ही पुलिस थानों में मेरे खिलाफ लाख-दो लाख मामले दर्ज करा दिए जाएं, लेकिन मैं आखिरी सांस तक भाईचारे की बात करता रहूंगा।” 

    उन्होंने प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा,‘‘अगर भाजपा को भाईचारे की बात पसंद नहीं है तो इसमें मेरा नहीं, बल्कि भाजपा का दोष है।” गौरतलब है कि विवादास्पद ट्वीट को लेकर सिंह के खिलाफ पिछले तीन दिन में भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, नर्मदापुरम और सतना में पांच प्राथमिकी पहले ही दर्ज की जा चुकी हैं। 

    हालिया ट्वीट में सिंह ने एक तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें कुछ युवकों को एक मस्जिद पर भगवा झंडा फहराते हुए दिखाया गया था। उन्होंने इस तस्वीर के साथ खरगोन में रामनवमी के जुलूस के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा का जिक्र किया था। बाद में उन्होंने ट्वीट से इस फोटो को डिलीट कर दिया था। सत्तारुढ़ भाजपा नेताओं ने तुरंत कहा कि मस्जिद की तस्वीर मध्य प्रदेश की नहीं है।