madhya Pradesh lok Sabha elections 2024 BJP And Congress
मध्य प्रदेश लोकसभा चुनाव 2024 (सौजन्यः सोशल मीडिया)

मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में छह सीट पर होने वाले चुनाव के लिए प्रचार अभियान बुधवार शाम को समाप्त हो गया। इन सीट पर 80 उम्मीदवार अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं।

Loading

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) के दूसरे चरण में छह सीट पर होने वाले चुनाव के लिए प्रचार अभियान (Election Campaign) बुधवार शाम को समाप्त हो गया। इन सीट पर 80 उम्मीदवार अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं।

इन छह क्षेत्रों में केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार का टीकमगढ़ और मध्य प्रदेश भाजपा प्रमुख वीडी शर्मा का खजुराहो लोकसभा क्षेत्र भी शामिल है। प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई है। कांग्रेस ने 2019 के आम चुनावों में मप्र की 29 सीट में से सिर्फ एक सीट जीती थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्य प्रचारक हैं और उन्होंने दमोह और पिपरिया में चुनावी रैलियों में “अबकी बार 400 पार” नारे के साथ विशाल जनादेश की मांग करते हुए “मोदी की गारंटी” को रेखांकित किया।

दूसरी ओर, कांग्रेस ने अपने मुख्य मुद्दे “संविधान को ख़तरे” पर जोर दिया और पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने मतदाताओं से कहा कि अगर भाजपा दोबारा सत्ता में आई तो लोकतंत्र खत्म कर देगी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी अस्वस्थ होने के कारण सतना में एक रैली में शामिल नहीं हो सके। दूसरे चरण में टीकमगढ़ (एससी), दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा और होशंगाबाद निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होगा। 2019 के चुनाव में भाजपा ने छिंदवाड़ा को छोड़कर मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीट में से 28 पर जीत हासिल की थी।

दमोह में मोदी ने दुनिया में मौजूदा हालात के मद्देनजर केंद्र में एक मजबूत और स्थिर सरकार की जरूरत को रेखांकित किया। बी आर आंबेडकर की जयंती पर होशंगाबाद के पिपरिया में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे केंद्र सरकार ने संविधान निर्माता से जुड़े स्थानों को विकसित किया और आदिवासियों के उत्थान के लिए काम किया। सतना रैली में खरगे ने लोगों से संविधान बदलने की भाजपा की ‘योजनाओं’ से सावधान रहने की अपील की।

मोदी के अलावा, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी के लिए प्रचार किया। कांग्रेस के लिए, मप्र राज्य इकाई के अध्यक्ष जीतू पटवारी, वरिष्ठ नेता विवेक तन्खा और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने प्रचार का नेतृत्व किया। मौजूदा सांसद और केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार टीकमगढ़ (एससी) निर्वाचन क्षेत्र से चौथी बार चुनाव लड़ रहे हैं, जहां उनका मुकाबला कांग्रेस के पंकज अहिरवार से है।

खजुराहो में, मौजूदा सांसद और मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा का मुकाबला विपक्षी दलों के गठबंधन ‘इंडिया’ के उम्मीदवार आरबी प्रजापति से है। प्रजापति ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक से हैं। वह सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हैं। सतना में भाजपा के मौजूदा सांसद गणेश सिंह और कांग्रेस नेता सिद्धार्थ कुशवाह आमने-सामने हैं। दमोह में मुख्य मुकाबला भाजपा के राहुल सिंह लोधी और कांग्रेस के तरबर सिंह लोधी के बीच है।

रीवा में, भाजपा के मौजूदा सांसद जनार्दन मिश्रा का मुकाबला कांग्रेस की नीलम मिश्रा से है, जबकि होशंगाबाद निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा के दर्शन सिंह चौधरी और कांग्रेस के संजय शर्मा आमने-सामने हैं। सतना निर्वाचन क्षेत्र में उम्मीदवारों की संख्या सबसे अधिक है। टीकमगढ़ (एससी) सीट से कुल सात उम्मीदवार, दमोह, रीवा और खजुराहो में 14-14 और होशंगाबाद में 12 उम्मीदवार मैदान में हैं। दूसरे चरण में 58,13,410 पुरुष, 53,12,025 महिला और 163 तीसरे लिंग के मतदाताओं सहित लगभग 1,11,25,598 मतदाता मतदान करने के पात्र हैं। छह निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 12,822 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं।

(एजेंसी)