madhya pradesh unique-child-born-in-ratlam-two-heads-and-three-hands-are-connected-to-the-same-torso-doctors-told-the-miracle-of-science

फ़िलहाल बच्चे को सीनियर डॉक्टर्स के ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।

    इंदौर : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रतलाम जिले (Ratlam) में एक अनोखे बच्चे (Unique Child Born) का जन्म हुआ है। यहां के जिला अस्पताल में एक बच्चे के दो सिर और तीन हाथ हैं। जन्म के कुछ घंटों बाद ही इस नवजात बच्चे को इंदौर के एमवाय अस्पताल (MY Hospital) में आईसीयू में भर्ती किया गया है। फ़िलहाल बच्चे को सीनियर डॉक्टर्स के ऑब्जर्वेशन में रखा गया है। जबकि प्रसूता फिलहाल रतलाम जिला अस्पताल में ही भर्ती है।

    इस बारे में इंदौर के एमवाय अस्पताल के डॉ. ब्रजेश लाहोटी ने कहा कि, ‘इसे डिसेफेलिक पैरापैगस कहा जाता है,जो आंशिक रूप से जुड़ने का एक दुर्लभ रूप है। बच्चा फिलहाल सपोर्ट सिस्टम पर स्थिर है।’

    डॉक्टर्स ने इस साइंस का चमत्कार कहा है। उनका मानना है कि, ऐसा केस करोड़ों में से एक होता है। विज्ञान की भाषा में इस तरह की स्थिति को पोलीसेफली कंडीशन कहा जाता है।

    जावरा के नीमचौक में ऑटो चलाने वाले सोहेल और उनकी पत्नी शाहीन का ये पहला बच्चा है। बच्चे के पिता ने बताया कि, गर्भावस्था के दौरान जब डॉक्टर ने सोनोग्राफी कराई थी, तब जुड़वा बच्चे पैदा होने की बात कही थी। हालांकि, तब पता नहीं था कि, बच्चा ऐसा होगा। फिलहाल वे बच्चे के स्वास्थ्य को लेकर काफी परेशान हैं। 

    इस अनोखे बच्चे के  ही धड़ से दो सिर जुड़े हुए हैं। उसके तीन हाथ हैं। दो हाथ सामान्य जगह पर हैं। जबकि एक हाथ सिर के पास से निकला है। बच्चे की स्थिति को देखते हुए डॉक्टर ने बताया कि एक भ्रूण से एक बच्चा बनता है। लेकिन, जब दो भ्रूण से अलग हो जाता है, तो जुड़वा बच्चे पैदा होते हैं। वहीं, भ्रूण पूरी तरह अलग नहीं हो पाता तो उसे जॉइंट ट्विंस कहते हैं।