PM मोदी ने पेश की मप्र नई की स्टार्टअप नीति, CM ने कहा- स्टार्टअप में बैंगलुरु-हैदराबाद के बाद इंदौर का नाम आएगा

PM Modi introduced the startup Policy of MP New, CM Shivraj said - Indore's name will come after Bangalore-Hyderabad in startup

    •  पीएम नरेंद्र मोदी वर्चुअली जुड़े
    •  मप्र की स्टार्टअप नीति लांच करेंगे

    इंदौर: मप्र स्टार्टअप कॉन्क्लेव का कार्यक्रम इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन में चल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल रूप से कार्यक्रम में जुड़े हैं। वे मध्यप्रदेश स्टार्टअप नीति का वर्चुअल शुभारंभ करेंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाषण दिया और जय मध्यप्रदेश, जय इंदौर के नारे से शुरुआत की।

     इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाषण दिया और जय मध्यप्रदेश, जय इंदौर के नारे से शुरुआत की। सीएम शिवराज ने कहा कि आज मप्र के सैकड़ों कॉलेजों में 5 लाख से ज्यादा नौ जवान सीधे कॉलेज से जुड़े हैं। कहा मेरे भांजों और प्यारी भांजियों मैं कहता हूं – मेरा बेटा-बेटियों तुम मुझे आइडिया दो मैं तुम्हें अवसर दूंगा। हमारे पास योग्यता है, इनोवेटिव आईडिया है। सही राह मिल जाए तो इंदौर कमाल करेगा। स्टार्टअप में बैंगलोर को भी पीछे छोड़ देंगे। ये चैलेंज स्वीकार है। यह हमारा सौभाग्य है। आज देश का नेतृत्व पीएम मोदी के हाथ में है।

    शिवराज ने मध्यप्रदेश में स्टाम्प ड्यूटी कम करने की घोषणा की। एमपी में दिल्ली से कम ही स्टाम्प ड्यूटी लगेगी। शिवराज ने कहा- मध्यप्रदेश स्टार्टअप पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है। हम इंदौर, भोपाल समेत अन्य शहरों को स्टार्टअप हब के रूप में स्थापित करने का प्रयास करेंगे। हम एक जिला एक उत्पाद पर काम कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि मप्र में आज स्टार्टअप का पूरा इको सिस्टम तैयार किया है। मेरा संकल्प है रोजगार। हर महीने रोजगार दिवस मनाते है।

    Embed Link

    Embed Link 02

    अब मप्र का नौजवान स्टार्टअप के क्षेत्र में नई उड़ान भरने को तैयार है। मप्र में विकास का पूरा इको सिस्टम तैयार है। एमएसएमई की नई नीति लागू की है। चावल को लेकर नई नीति ला रहे हैं। इलेक्ट्रीक व्हीकल की नीति भी लेकर हम आ रहे हैं। मप्र में स्टार्टअप इको सिस्टम को तैयार करने का 2016 में प्रयास शुरू किया था। इस नीति के कारण इस स्टार्टअप का इको सिस्टम बना। 700 करोड़ की फंडिंग आ चुकी है। प्रदेश के कोने-कोने से स्टार्टअप संचालित हो रहे हैं। 40% स्टार्टअप बेटियों के है जो तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।

    छोटे-छोटे शहरों से बेटा-बेटी नए आईडिया लेकर आ रहे हैं। 26 जनवरी को स्टार्टअप समिट के दौरान नौजवानों के सुझावों से इस नीति को अंतिम रूप दिया है। अगर कोई बेटियां अपना स्टार्टअप शुरू करती है तो उनके स्टार्टअप को बढ़ावा देने की व्यवस्था। फंड आसानी से मिली तो फंड की व्यवस्था। प्रदेश सरकार द्वारा मप्र स्टार्टअप पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है।

    Embed Link

    शाम करीब 6 बजे सीएम शिवराज सिंह चौहान,मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, मंत्री तुलसी सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, मंत्री उषा ठाकुर मंच पर पहुंचे। जहां मंच पर सीएम का पौधे भेंट कर उनका स्वागत किया।