kamalnath

    धार (मप्र). मध्य प्रदेश (Mahya Pradesh) के धार (Dhar) जिले में एक मंदिर परिसर के बाहर कुछ अज्ञात लोगों ने मंदिर के 58 वर्षीय पुजारी की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या कर दी। इस मामले में प्रदेश कांग्रेस ने राज्य सरकार पर कानून व्यवस्था संभालने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए अपराधियों को जल्द पकड़ने की मांग की है।

    पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) मोनिका सिंह ने मंगलवार को बताया कि जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर दूर ज्ञानपुर गांव में रविवार रात पुजारी अरुण दास पर हमला हुआ। हमले में घायल पुजारी ने सोमवार को दम तोड़ दिया। सिंह ने मंदिर के चौकीदार की शिकायत के हवाले से बताया कि तीन से चार लोग रविवार रात को करीब साढ़े आठ बजे मंदिर के बाहर घूम रहे थे।

    शिकायत के मुताबिक जब अरुण दास ने आरोपियों से पूछा कि वे मंदिर के बाहर क्यों घूम रहे हैं तो वे नाराज हो गए और उन्होंने पुजारी से अपशब्द बोलने शुरू कर दिए। डीएसपी ने बताया कि बाद में आरोपी युवकों ने पुजारी पर कथित तौर पर लाठियों और पत्थरों से हमला कर दिया। चौकीदार द्वारा बीच-बचाव की कोशिश करने पर आरोपियों ने उसे भी पीटा। उन्होंने कहा कि इसके बाद चौकीदार ने कुछ ग्रामीणों से मदद मांगी और घायल पुजारी को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।

    डीएसपी ने कहा कि तिरला पुलिस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबद्ध धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। इस बीच, पुजारी पर हमले की निंदा करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान की सरकार में प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहद दयनीय है और अपराधियों में कानून का कोई डर नहीं है।

    उन्होंने कहा, ‘‘धार जिले में ज्ञानपुरा गांव की कडबान पहाड़ी के पास स्थित हनुमान मंदिर के पुजारी बाबा अरुण दास की गुंडों ने बुरी तरीके से पिटाई कर हत्या कर दी। मंदिर के पुजारी भी अब सुरक्षित नहीं। पुजारी के हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी हो, उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो, प्रदेश में कानून का डर स्थापित हो।”