Landslide in Maharashtra
File Photo : PTI

    पुणे. महाराष्ट्र (Maharashtra) के सतारा (Satara) में भारी बारिश (Rain) के कारण आई बाढ़ (Flood), भूस्खलन (Landslide) और बारिश से जुड़ी अन्य घटनाओं मरने वाले लोगों की संख्या रविवार को बढ़कर 37 पर पहुंच गई। जबकि पांच लोग अब भी लापता हैं। सबकी तलाश जारी है। इस बात की जानकारी सतारा जिला प्रशासन ने दी है।

    गौरतलब है कि सतारा जिले के पाटन तहसील में स्थित अंबेघर गांव, ढोकवाले गांव, मीरगांव में गुरुवार और शुक्रवार को रात के दौरान बारिश के बाद भूस्खलन हुआ था। साथ ही जिले में बाढ़ भी आ गई थी। जिले में बाढ़, भूस्खलन और बारिश से जुडी अन्य घटनाओं में अब तक 37 लोगों ने अपनी जान गवाई है। जबकि पांच लोग अब भी लापता हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) का तलाश अभियान जारी है।

    महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण हुईं भूस्खलन की घटनाओं के बाद 89 शव बरामद किए गए हैं और 34 लोग लापता हैं। एनडीआरएफ ने राज्य के प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए 34 दलों को तैनात किया है।

    आंकड़ों के अनुसार, एनडीआरएफ दल रायगढ़ के तालिये, रत्नागिरी के पोरसे और पेढ़े तथा सतारा के मीरगांव, अंबेघर और ढोकवाले में भूस्खलन से प्रभावित क्षेत्रों में काम कर रही है। महाराष्ट्र में बाढ़, भूस्खलन तथा बारिश से सम्बंधित अन्य घटनाओं में मरने वालों की संख्या रविवार को 113 पर पहुंच गई। राज्य सरकार ने बताया कि पिछले एक दिन में एक और व्यक्ति की मौत हो गई और 100 लोग लापता हैं। इन घटनाओं में अब तक 50 लोग घायल हो चुके हैं।