Bullet train
file

    अकोला. नागपुर से मुंबई समृद्धि महामार्ग का काम तेज गति से शुरू है. प्राप्त जानकारी के अनुसार इसी से लगकर हाईस्पीड रेलवे बुलेट ट्रेन का नियोजन शुरू है. यह ट्रेन नागपुर से शुरू होकर वाशिम तथा बुलढाना जिलों से गुजरेगी. इसके लिए करीब 70 गांवों की 300 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी. कुछ समय पहले बुलढाना के जिलाधिकारी तथा रेलवे अधिकारियों की बैठक के बाद हलचले तेज हो गई हैं.

    महाराष्ट्र में नागपुर, वर्धा, अमरावती, वाशिम, बुलढाना, औरंगाबाद, जालना, अहमदनगर, नासिक, ठाणे जिलों से समृद्धि महामार्ग गुजर रहा है. इस महामार्ग का काम अब तक 60 प्रश के करीब हो चुका है. इसी से लगकर बुलेट ट्रेन का नियोजन प्रशासकीय स्तर पर शुरू है. मुंबई, नागपुर का 736 कि.मी. का अंतर बुलेट ट्रेन द्वारा सिर्फ चार घंटों में पूरा हो सकेगा.

    इस बुलेट ट्रेन प्रकल्प का पर्यावरण व सामाजिक परिणामों की मूल्यांकन रिपोर्ट तैयार करने का काम शुरू है. इस बारे में बुलढाना के जिलाधिकारी कार्यालय में रेलवे के अधिकारी तथा जिलाधिकारी एस.रामामूर्ति की संयुक्त बैठक हो चुकी है.

    इस बैठक में बुलेट ट्रेन का प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया गया है. समृद्धि महामार्ग से लगकर बुलेट ट्रेन के लिए आवश्यक जमीन का अधिग्रहण पुनर्वसन जमीन का मुआवजा तथा इस कार्य के लिए लगनेवाला समय इन मुद्दों पर चर्चा की जा चूकी है. यह बुलेट ट्रेन 350 कि.मी. प्रति घंटे की गति से दौड़ेगी.

    बुलढाना जिले के करीब 47 गांव से तथा वाशिम जिले के 8 गांवों से समृद्धि महामार्ग से लगकर यह चलाई जाएगी. बुलढाना जिले की 152.10 हेक्टेयर जमीन इस ट्रेन के लिए लगेगी ऐसा प्राथमिक अनुमान है. इसी तरह वाशिम जिले की 157 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी. नेशनल हाईस्पीड रेलवे कार्पोरेशन द्वारा विस्तार पूर्वक प्रकल्प अहवाल निर्मिति का काम शुरू है.

    प्रस्तावित मार्ग पर आनेवाले पेड़, टेकड़ियां, तालाब, नदियां, इमारतें की जानकारी लेकर जिलाधिकारी तथा भूसंपादन अधिकारी इनकी सहमति के बाद प्रत्यक्ष रूप से काम की शुरूआत करेंगे. इसी तरह बुलेट ट्रेन प्राधिकरण की ओर से जनसामान्य के विचार भी लिए जाएंगे. प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ माह पहले बुलेट ट्रेन के संबंध में हवाई सर्वेक्षण भी किया जा चुका है. 

    बुलढाना जिले में एक स्टाप

    प्राप्त जानकारी के अनुसार बुलेट ट्रेन के लिए बुलढाना जिले के मेहकर में एक स्टाप मिलेगा. इस ट्रेन में एक समय में अधिक से अधिक 750 यात्री यात्रा कर सकेंगे. इस बुलेट ट्रेन के शुरू होने पर औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा. इसी तरह लोगों को रोजगार की संधी मिलेगी. औद्योगिक क्षेत्र के साथ साथ पर्यटन, कृषि, उद्योग, शिक्षा आदि क्षेत्रों का भी विकास होगा. 

    पालकमंत्री महोदय ने अनभिज्ञता दर्शाइ

    इस बारे में बुलढाना के पालकमंत्री डा.राजेंद्र शिंगणे से बातचीत करने पर उन्होंने बुलेट ट्रेन के विषय में किसी प्रकार की जानकारी न होने की बात बताते हुए अपनी अनभिज्ञता दर्शाइ है. उन्होंने स्पष्ट किया कि अब तक उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. 

    प्रस्ताव मिलने पर प्राथमिकता से काम होंगे -शण्मुगराजन एस. जिलाधिकारी वाशिम

    समृद्धि महामार्ग से लगकर मुंबई नागपुर हाईस्पीड रेलवे कारिडार बुलेट ट्रेन के संबंध में फिलहाल किसी प्रकार का प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ है. इस बारे में पालकमंत्री महोदय के साथ किसी भी प्रकार की बैठक फिलहाल नहीं हुई है. आनेवाले समय में मंत्रालय स्तर पर आदेश प्राप्त होने पर बुलेट ट्रेन से संबंधित कार्यों को प्राथमिकता दी जाएगी. यह विचार बातचीत के दौरान वाशिम के जिलाधिकारी शण्मुगराजन एस. ने प्रकट किए. 

    रेलवे अधिकारियों ने दिया प्रेजेन्टेशन-एस. रामामूर्ति, जिलाधिकारी, बुलढाना

    इस बारे में बातचीत करने पर बुलढाना के जिलाधिकारी एस.रामामूर्ति ने कहा कि बुलेट ट्रेन के विषय में जुलाई माह में रेलवे के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक हुई है. जिसमें विचारमंथन किया गया है तथा उपाय योजनाओं पर चर्चा हुई है. इस कार्य के लिए जिले की 150 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी. उस दृष्टि से नियोजन शुरू है.