ST BUS
File Photo

    अकोला. लाकडाउन के बाद अब एसटी महामंडल ने एसटी बसें भी शुरू कर दी हैं. जिसके कारण दिन प्रतिदिन यात्रियों की भीड़ बस स्टैंड पर बढ़ती जा रही है. जहां अकोला में महामंडल को रोज 30 हजार रू. की आमदनी होती थी अब वह आमदनी डेढ़ लाख के करीब पहुंच गई हैं. टावर के पास स्थित पुराने बस स्टैंड से बड़ी संख्या में एसटी बसें ग्रामीण क्षेत्रों में जाती हैं. वर्तमान समय में खरीफ फसलों की बुआई का समय शुरू है.

    इस समय ग्रामीण क्षेत्रों से किसान बीज, खाद तथा अन्य खेती से संबंधित सामग्री खरीदने के लिए शहर में आते हैं और यहां से खरीफ बुआई के लिए सामग्री खरीद कर वापस अपने गांव जाते हैं. शायद इसी कारण से इस समय बस स्टैंड पर काफी भीड़ देखी जा रही है. इसी तरह नये बस स्टैंड से अन्य जिलों के लिए भी एसटी बस सेवा शुरू है, उसे भी काफी अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है. ऐसे कई लोग हैं जो कि दूसरे शहर जाने के लिए पूरी तरह से एसटी बसों पर निर्भर हैं. वे लोग अब काफी खुश देखे जा रहे हैं और राहत महसूस कर रहे हैं. शायद इस कारण भी बस स्टैंड पर भीड़ अधिक देखी जा रही है. 

    सुरक्षा का ध्यान रखें -पंजाबराव बुंदे

    इस बारे में एसटी बस डेपो प्रमुख पंजाबराव बुंदे से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि अकोला से ग्रामीण क्षेत्रों के साथ साथ अन्य शहरों के लिए भी बस सेवा शुरू की गयी है. कोरोना संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है. इसलिए इस ओर ध्यान देते हुए यात्रियों का काम है कि चेहरे पर मास्क लगाएं, बस स्टैंड पर भीड़ न करें, सुरक्षित अंतर रखें, जिससे वे कोरोना संक्रमण से बच सकें. उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करना भी बहुत जरूरी है. इस तरह सभी यात्रियों का काम है कि अपनी सुरक्षा का ध्यान दखते हुए एसटी महामंडल को सहयोग दें.