कोरोना प्रतिबंधक वैक्सीनेशन में अकोला जिला 32 वें स्थान पर

    अकोला. पिछले महीने कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में राज्य में पिछड़ा अकोला जिला अब धीरे-धीरे सुधर रहा है. इस संबंध में राज्य की रैंकिंग में 35वां स्थान पाने वाला अकोला जिला अब 32वें स्थान पर है. इस बीच इस माह शुरू हुए ‘हर घर दस्तक’ अभियान में करीब 85 हजार लाभार्थियों ने वैक्सीन का पहला डोज लिया है.

    चिकित्सा सूत्रों के अनुसार कोरोना टीकाकरण अभियान में पिछड़े राज्य के जिलों की सूची में अकोला 35वें स्थान पर था. जिससे मुंबई के वरिष्ठों ने जिले के स्वास्थ्य विभाग को नियोजन के संदर्भ में कहा गया था. दीपावली की छुट्टियों के दौरान शहर में चार दिनों तक बंद रहे इस अभियान को 8 नवंबर से फिर से शुरू कर दिया गया है.

    पिछले ग्यारह दिनों में मिले प्रतिसाद को देखते हुए पता चला है कि जिले में 70 हजार से अधिक लाभार्थियों ने वैक्सीन का पहला डोज लिया है. इस दौरान दूसरा डोज लेने वालों की संख्या 15 हजार के करीब है.

    पहले और दूसरे डोज की संख्या बढ़ने से जिले के प्रदर्शन में भी सुधार हो रहा है. हालाकि यह दिलासा देनेवाली बात है, लेकिन इस महीने के अंत तक जिले में पहली खुराक के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने की चुनौती का सामना स्वास्थ्य विभाग के सामने रहेगा. जिले में कुल लाभार्थियों की संख्या 14 लाख 33 हजार है.

    अभियान में 85 हजार की संख्या पार

    टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए जिले में हर घर दस्तक अभियान शुरू किया गया है. पिछले एक पखवाड़े में, 60 हजार से अधिक लाभार्थियों ने पहली खुराक ली है और 25 हजार से अधिक लाभार्थियों ने दूसरी खुराक ली है.