school
File Pic

    • काफी लंबे समय के बाद शुरू होंगी शालाएं

    अकोला. इस समय शिक्षा विभाग शालाएं शुरू करने की तैयारी में लगातार लगा हुआ है. सरकार द्वारा 4 अक्टूबर 2021 से ग्रामीण क्षेत्रों में कक्षा 5वी से 12वी तथा शहरी क्षेत्र में 8वी से 12वी तक शालाएं 4 अक्टूबर तक शुरू की जाएंगी. इसके लिए पालकों की सहमति आवश्यक रहेगी. प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में 295 माध्यमिक शालाएं हैं तथा 64,392 विद्यार्थी हैं. इसी तरह 260 उच्च माध्यमिक शालाएं हैं और 1 लाख 28 हजार 125 विद्यार्थी हैं. उस अनुसार शिक्षा विभाग द्वारा नियोजन किया जा रहा है. जिन ग्रामीण क्षेत्रों में शालाएं शुरू है वहां विद्यार्थियों की उपस्थिति का प्रमाण काफी कम है.

    इसी तरह शिक्षकों के साथ साथ शिक्षकेतर कर्मियों का वैक्सीनेशन जरूरी रहेगा. यदि शालाओं के पास स्कूल बस है तो एक सीट पर एक ही विद्यार्थी बैठ सकता है. इसी तरह शालाओं में किसी प्रकार के भी खेलों की अनुमति विद्यार्थियों को नहीं रहेगी. इसी तरह स्कूल की कक्षाओं में सैनिटाइजेशन करना जरुरी रहेगा. शालाओं के साथ साथ आस पास के परिसर की स्वच्छता भी करनी पड़ेगी. शालाओं के शुरू होने की जानकारी से विद्यार्थियों में काफी हर्ष का वातावरण देखा जा रहा है. यह उल्लेखनीय है कि काफी लंबे समय के बाद शालाओं की घंटी बजेगी.

    सरकार के आदेशानुसार शालाएं शुरू होंगी-सौरभ कटियार

    इस बारे में बातचीत करने पर प्रभारी जिलाधिकारी तथा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ कटियार ने बताया कि 4 अक्टूबर से ग्रामीण क्षेत्र में कक्षा 5वीं से 12वीं तक की शालाएं शुरू की जा रही हैं. सरकार के आदेशानुसार शिक्षा विभाग को निर्देश दिए गए हैं. उस अनुसार जि.प. का शिक्षा विभाग तैयार है. जिन जिन क्षेत्रों में कोरोना के रोगी नहीं हैं उन सभी क्षेत्रों में शालाएं शुरू की जाएंगी.

    सरकारी सूचनाओं के पालन के साथ शालाएं शुरू होंगी-डा.सुचिता पाटेकर

    शिक्षणाधिकारी (माध्य.) डा.सुचिता पाटेकर से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा दी गयी सूचनाओं का पालन करते हुए 4 अक्टूबर से शालाएं शुरू की जाएंगी. शासन के आदेशानुसार स्थानीय प्राधिकरण के अहवाल के अनुसार शालाएं शुरू करने की तैयारी शुरू है. और जिलाधिकारी तथा जि.प. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के आदेशानुसार शिक्षा विभाग काम कर रहा है.