Engineers, contractors begged by singing songs, movement of Independent Engineers and Contractors Association

Loading

अकोला. विगत पांच दिनों से लोक निर्माण विभाग अकोला कार्यालय के समक्ष स्वतंत्र इंजीनियर एवं ठेकेदार एसो. की ओर से प्रलंबित बकायों का भुगतान कराने के लिए अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल चल रही है. लेकिन सरकार ने अभी तक इस भूख हड़ताल पर कोई ध्यान नहीं दिया है, इसलिए एसोसिएशन की ओर से सोमवार को भीख मांगों आंदोलन किया गया.

इस आंदोलन में तबला, पेटी की संगत और गीत गाकर सभी सरकारी ठेकेदारों और इंजीनियरों की ओर से हमारे बकाया बिलों का भुगतान करने के लिए संबंधित अधिकारियों से भीख मांगी. साथ ही गांधीगिरी के रूप में सभी अधिकारियों का गुलाब का फूल देकर स्वागत किया गया. पिछले साल से सरकारी ठेकेदारों और इंजीनियरों ने उन्हें मिले वर्क ऑर्डर के मुताबिक काम पूरा कर लिया है. लेकिन काम भले ही दस लाख का हो, अधिकारियों की नीति है कि प्रत्येक को एक-एक लाख ही दिए जाए.

इसलिए काम पूरा होने और उन पर कर्ज चढ़ने के बाद भी अभी तक पूरा भुगतान नहीं किया जा सका है. जिससे ठेकेदारों को उनके द्वारा किए गए सभी प्रलंबित कार्यों का पूरा भुगतान मार्च के अंत से ठीक पहले किया जाना चाहिए, यह मांग की गयी है. साथ ही अधीक्षक अभियंता, लोक निर्माण विभाग बोर्ड, अकोला को गुलाब देकर दोनों कार्यालयों में भीख मांगकर तथा गीत गाकर आंदोलन किया गया.

इस अवसर पर गांधीगिरी करते हुए मनोज भालेराव ने अधिकारियों के सामने अपनी आपबीती सुनाई. एसो. के अध्यक्ष मनोज भालेराव ने चेतावनी दी है कि, दो दिनों के भीतर मांगें पूरी नहीं होने पर वे अधीक्षक अभियंता, लोक निर्माण बोर्ड, गौरक्षण रोड, अकोला के सभागार में अर्धनग्न होकर धरना देंगे. इस आंदोलन में एसो. के चेतन सुरेका, सतीश उंबरकर, हरीश पांडे, सिद्धार्थ बागड़े, देवेंद्र ओझा, असलमभाई, अवि म्हैस्कर, संजय बोंडे, कुणाल भालेराव, राजकुमार सिरसाट, यश भालेराव, ओम जाधव, आयुष मनवर, अमरदीप वाकपांजर, विक्की वावरे आदि सहित बड़ी संख्या में ठेकेदार और एसो. के इंजीनियरों ने भाग लिया. साथ ही गीत गाने में धम्मपाल महाजन, अरविन्द दामोदर, राहुल गोपनारायण, प्रमोद जमधाड़े ने सहयोग किया है.