Vikhe Patil in Akola

Loading

अकोला. राज्य सरकार द्वारा विदर्भ के किसानों को डेयरी जैसे पूरक व्यवसायों को आगे बढ़ाने के लिए सशक्त बनाने के लिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं. किसानों को गाय वितरित करने, बंद शीतन संयंत्रों को पुनर्जीवित करने और व्यवसाय के पूरक के लिए खाद्य संयंत्रों का निर्माण करने के लिए एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम चलाया जाएगा, यह प्रतिपादन राज्य के राजस्व तथा जिले के पालक मंत्री राधाकृष्ण विखे ने किया. वे अकोट में आयोजित कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे.

अकोट में 11.25 करोड़ रू. की लागत से उप विभागीय अधिकारी कार्यालय और तहसील कार्यालय की नई प्रशासकीय इमारत का लोकार्पण और 4.11 करोड़ रू. की निधि से श्री संत नरसिंग महाराज पर्यटन विकास निधि के कार्यों का लोकार्पण इसी तरह 50 करोड़ की निधि से 100 बेड के उप जिला अस्पताल का भूमिपूजन राजस्व मंत्री राधाकृष्ण विखे के हाथों किया गया.

इस अवसर पर विधायक प्रकाश भारसाकले, विधायक रणधीर सावरकर, विधायक वसंत खंडेलवाल, जिलाधिकारी अजीत कुंभार, पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह, उप विभागीय अधिकारी मनोज लोणारकर, तहसीलदार सुनील पाटिल, जिला शल्य चिकित्सक डा.तरंगतुषार वारे आदि प्रमुखता से उपस्थित थे. 

सभी कार्यालय एक छत के नीचे लाए जाएंगे

पालक मंत्री राधाकृष्ण विखे ने कहा कि, विदर्भ में दूध उत्पादन बढ़ाने के लिए जरूरतमंद किसानों को 10 गायों का वितरण, साइलेज, चारा प्रबंधन, पशु चारा उत्पादन परियोजना आदि कार्यक्रम लागू किए जाएंगे. राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के माध्यम से, बंद शीत संयंत्रों को फिर से खोला जाएगा. उन्होंने कहा कि, विधायक भारसाकले के प्रयासों से विभिन्न विकास कार्य निर्मित हुए हैं. तहसील और प्रांतीय कार्यालय का जीवन के साथ एक नियमित संबंध है. अब प्रांतीय कार्यालय भवन में भू-अभिलेख व अन्य कार्यालय भी एक छत के नीचे लाए जाएंगे.

विधायक प्रकाश भारसाकले ने कहा कि, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और पालक मंत्री राधाकृष्ण विखे के प्रयासों की बदौलत इन विकास कार्यों के लिए बड़ी धनराशि प्राप्त हुई है. नागरिकों की सुविधाओं को जोड़ने के लिए कई काम पूरे हो चुके हैं और जल्द ही पूरे हो जाएंगे. इस समय एसडीओ लोणारकर ने बताया कि, सोमवार से नए भवन में एसडीओ व तहसील कार्यालय पूरी क्षमता से संचालित होंगे.