college students
File Photo

    अकोला. राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा घोषणा की गयी है कि 20 अक्टूबर से सभी महाविद्यालय शुरू किए जाएंगे. उस अनुसार अब ऐसा लग रहा है कि विद्यार्थियों को महाविद्यालय में जाकर पढ़ाई करने का मौका मिलेगा. विद्यार्थियों में महाविद्यालय को लेकर भारी उत्साह देखा जा रहा है.

    पिछले काफी लंबे समय से महाविद्यालय बंद होने के कारण विद्यार्थियों को भी अच्छा नहीं लग रहा है. अब कोरोना वायरस की दूसरी लहर समाप्ति की ओर है. उस अनुसार महाविद्यालय शुरू किए जा रहे हैं. करीब डेढ वर्ष से अधिक समय से महाविद्यालय बंद हैं. विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई करते हुए और परीक्षा देते हुए परेशान हो गए हैं. 

    वैक्सीन लेना जरूरी

    सरकार द्वारा कहा गया है कि महाविद्यालय में उन्हीं विद्यार्थियों को प्रवेश हेतु प्राथमिकता मिलेगी जिन्होंने वैक्सीन के दोनों डोज ले लिए हैं. 50 प्रश विद्यार्थियों को ही महाविद्यालय में प्रवेश दिया जाएगा. महाविद्यालय शुरू होने की घोषणा सुन कर विद्यार्थियों के साथ साथ प्राध्यापक भी उत्साहित देखे जा रहे हैं. कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने को लेकर सरकार द्वारा जो सूचनाएं दी गयी हैं उस पर अमल करते हुए महाविद्यालयों को शुरू करने की अनुमति दी जा रही हैं. 

    सभी सूचनाओं का पालन किया जाएगा-प्राचार्य डा.एस.जी. चापके

    इस बारे में स्थानीय एलआरटी कॉमर्स कालेज के प्राचार्य डा.एस.जी. चापके से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस का प्रभाव अब काफी कम हो गया है, कोरोना की दूसरी लहर अब समाप्ति की ओर है, इसी तरह वैक्सीनेशन लगातार शुरू है, अब ऐसे समय में विद्यार्थियों को प्रत्यक्ष रूप से शिक्षा की आवश्यकता है.

    सरकार ने महाविद्यालय शुरू करने की घोषणा कर के विद्यार्थियों के हित में निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा की गयी सभी सूचनाओं का पालन करते हुए महाविद्यालय शुरू किया जाएगा.