Kites Shops
File Photo : PTI

  • सावधानी के साथ दुर्घटनाओं से बचने की अपील

अकोला. कोरोना महामारी के साथ साल के अंत और नए साल के आगमन से अकोला महानगर में पतंग का मौसम शुरू हो चुका है. इस बीच, स्वास्थ्य विभाग और महावितरण ने लोगों से पतंग उड़ाते हुए एहतियाती कदम उठाने की अपील की है. मकर संक्रांति की पृष्ठभूमि पर शहर में विभिन्न रंगों और आकारों की पतंगें आई हैं. लेकिन जब पतंग उड़ाते हैं या दूसरी पतंग काटते हैं, तो पतंग का मांजा बिजली के खंभों तथा डीपियों में लगे बिजली के तारों के संपर्क में आते हैं, जिससे दुर्घटनाओं का खतरा बढ़ जाता है. इसके अलावा, मांजे से गंभीर चोटों की घटनाएं हुई हैं. इसलिए पतंग उड़ाते समय सावधानी बरतनी चाहिए, स्वास्थ्य विभाग और महावितरण द्वारा यह अपील की गयी है.

प्रतिवर्ष पतंग के मौसम के दौरान, मांजे से मामूली और गंभीर घटनाएं होती हैं, जिसके बाद लोगों को चोट आने से इलाज के लिए अस्पतालों में भागना पड़ता हैं. कटी पतंग को पकड़ने के लिए या उड़ते समय संतुलन बिगड़ कर गिरने, फिसलने, खरोंच आने या फिर कांच चुभने के गंभीर प्रकार होते हैं. इसलिए, स्वास्थ्य विभाग ने विशेष रूप से बच्चों के पतंग उड़ाते समय माता-पिता से बच्चों की ओर ध्यान रखने की अपील की है.

इस बीच, पतंग-प्रेमियों से महावितरण ने अपील की है कि बिजली की लाइनों को हटाने के प्रयासों से बचें. डंडे से मांजा निकालने के साथ छतों, टावरों, घास के मैदानों, कांच वाले क्षेत्रों से पतंग निकालने का प्रयास न करें. इसी तरह ट्राफिक वाली सड़कों पर पतंग उड़ाने से बचें, वाहन चलाते समय वाहन चालकों को भी खुद का ख्याल रखना चाहिए क्योंकि पतंग के मांजों को आसानी से नहीं देखा जा सकता है जिससे अक्सर मांजा वाहन चालकों के गले में अटक कर गंभीर चोट लगा सकता है.