New record of deaths due to corona in the country, 3 lakh people lost their lives, 2.22 lakh new cases have come out in the last 24 hours
File Photo

    अकोला. शहर तथा जिले में कोरोना वायरस की दहशत दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. अब तक अकोला जिले में करीब 28 हजार लोगों को कोरोना हो चुका है. प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस से करीब 452 रोगियों की मौत हो चुकी हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार यह कोरोना वायरस की दूसरी लहर है. इस कारण से लोगों में काफी दहशत देखी जा रही हैं.

    हाल ही में एक ही दिन में कोरोना वायरस के कारण 4 लोगों की मौत हो चुकी हैं. इस तरह अब तक कोरोना वायरस के कारण कुल मिलाकर 452 लोगों की मौत हुई हैं. जिन लोगों की मौत हुई हैं उसमें से कई लोग जीएमसी के साथ साथ निजी अस्पतालों में भी उपचार करवा रहे थे.

    स्थिति खराब होने के बावजूद भीड़ में कमी नहीं

    शहर तथा जिले में कोरोना वायरस की दहशत दिन प्रतिदिन बढ़ने के बावजूद इसका कोई असर आम लोगों में नहीं देखा जा रहा हैं. शहर का कोई बाजारपेठ का क्षेत्र ऐसा नही हैं जहां पर लोगों की भीड़ ना हो. सभी बाजारों में लोगों की काफी भीड़ दिखाई दे रही हैं. और तो और अकोला के बाजारों में गांधी रोड, जैन मंदिर रोड, ओपन थियेटर रोड आदि इन सभी क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी होता हुआ नहीं दिखाई दे रहा हैं. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तो हो ही नहीं रहा हैं, उस पर बड़ी संख्या में लोग ऐसे हैं जो मास्क का उपयोग भी नहीं करते हैं.

    जिला प्रशासन, पुलिस विभाग तथा अकोला मनपा द्वारा कई लोगों से मास्क न लगाने के कारण दंड की राशि वसूल की गई हैं. इसके बाद भी लोगों का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा हैं. शायद बाजारों में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही भीड़ और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने के कारण ही आए दिन कोरोना वायरस के रोगियों में वृध्दि देखी जा रही हैं. इसी के साथ साथ शहर का कोई मार्ग ऐसा नही हैं, जिस मार्ग पर भीड़ ना हो. लोग अभी भी कोरोना वायरस की गंभीरता को सहजता से ले रहे हैं.

    सरकारी सूचनाओं का पालन जरूरी

    शहर तथा जिले में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई. सूचनाओं का पालन करना सभी के लिए आवश्यक हैं. सूचनाओं में कहा गया हैं कि सभी लोग मास्क लगाकर ही बाहर निकलें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा भीड़ भरे स्थानों पर जाने से बचें. लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग और भीड़ भरे स्थानों पर जाने से बचें, इन सूचनाओं का जरा भी पालन नहीं किया जा रहा हैं. जबकि सभी लोगों द्वारा इस ओर गंभीरता से ध्यान दिया जाना जरूरी हैं.