File Photo
File Photo

    अकोला. बरसात को शुरुआत होते ही शहरी और विशेषत: ग्रामीण भागों में भी सांपों का मुक्तसंचार बढ़ा है. सांप के काटने का प्रमाण भी बढ़ा है. सांप काटने के औसतन चार मरीज प्रतिदिन सरकारी मेडिकल कालेज व सर्वोपचार अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल होने की जानकारी सूत्रों से मिली है. जिले में जून माह में करीब 1,523 लोगों को सांप ने काटने की घटना घटी है. लोगों के साथ ही मुख्यत: किसानों ने भी सतर्क रहने का आहवान जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. सुरेश आसोले ने किया है.

    जिले में जून माह में सांप काटने की करीब 1,523 घटना घटी है. जिसमें 1,183 पुरुष व 320 महिलाओं का समावेश है. जिसमें से 31 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आनेवाले ग्रामीण भागों के 396 पुरुष व 121 महिलाओं का समावेश है तो जिला शल्य चिकित्सक के अंतर्गत आनेवाले ग्रामीण और उप जिला अस्पताल परिसर के 642 पुरुष और 179 महिलाओं का समावेश है.

    शहरी भागों में सांप ने काटनेवाले 145 पुरुष व 40 महिलाओं ने उपचार के लिए जिला सर्वोपचार अस्पताल में जाने का स्वास्थ्य विभाग की ओर दर्ज है. सांप से काटने की सर्वाधिक 261 घटना पातुर तहसील में घटी है. उसके बाद 257 घटना अकोट तहसील में घटी है. जिले में प्रमुखता में नाग और धामण जाति के सांपों का प्रमाण अधिक है.  

    सतर्क रहना आवश्यक- डा. सुरेश आसोले 

    सरकारी मेडिकल कालेज व सर्वोपचार अस्पताल में जून माह में सांप ने काटने पर उपचार लेने के लिए 185 महिला व पुरुष दाखिल हुए है. इसमें बाहर जिले के मरीजों का भी समावेश है. सांप से काटने पर आवश्यक वैक्सीन सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप केंद्र, ग्रामीण अस्पताल, उप जिला अस्पताल व जिला सर्वोपचार अस्पताल में उपलब्ध है. यह जानकारी देते हुए लोगों ने मुख्यत: किसानों ने सतर्क रहने का आहवान जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. सुरेश आसोले ने किया है.