(Photo Credits -ANI)
(Photo Credits -ANI)

    • कानून व्यवस्था बनाए रखें- पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर 

    अकोला. 10 सितंबर से शुरू होनेवाले गणेशोत्सव के लिए जिला पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर द्वारा जिले में तगड़ा पुलिस बंदोबस्त लगाया गया है. उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा दी गई सूचनाओं का पालन करें. तथा शहर तथा जिले में कानून व्यवस्था को बनाए रखें.

    पुलिस द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि मा. जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गणेश स्थापना व विसर्जन के संबंध में जायजा बैठक ली गई है. पुलिस थाने स्तर पर शांति समिति की 43 बैठक और पुलिस मित्रों की 55 बैठक ली गई है. इसी प्रकार पुलिस अधीक्षक द्वारा एक गांव एक गणपति योजना पर अमल करने का आहवान किया गया है. 

    तगड़ा पुलिस बंदोबस्त

    शहर तथा जिले में तगड़ा पुलिस बंदोबस्त लगाया  गया है. इस के लिए सभी पुलिस थाने स्तर पर नियोजन किया गया है. पुलिस कंट्रोल रुम में एक क्यूआरटी प्लाटून, 04 आरसीपी प्लाटून, 01 एसआरपीएफ कंपनी पुलिस हेड क्वार्टर में रखी गई है. इसी तरह पुलिस थानों की सीमा में विशेष गश्त पथक तैयार किए गए है. जो कि प्रभावी रुप से गश्त देंगे.

    इसी तरह पुलिस इंतजाम के लिए 1 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 2 उप विभागीय पुलिस अधिकारी, 20 पुलिस निरीक्षक, 95 सहायक पुलिस निरीक्षक, पुलिस उप निरीक्षक, 1,400 पुलिस कर्मचारी, 500 होमगार्ड इसी तरह पुलिस मुख्यालय अकोला से 4 आरसीबी प्लाटून, 1 क्यूआरटी प्लाटून, रिजर्व फोर्स तथा राज्य आरक्षित पुलिस बल की एक कंपनी इस तरह का बंदोबस्त पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में लगाया जा रहा है.

    अनेक समाजकंटकों पर कार्रवाई

    कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अब तक 37 समाजकंटकों पर एमपीडीए एक्ट लगाया गया है. इसी तरह 66 अपराधिक टोलियों को तड़ीपार किया गया है. इस तरह अकोला पुलिस द्वारा अनेक समाजकंटकों पर विविध प्रतिबंधात्मक कार्रवाई पहले ही की जा चुकी है.

    एक गांव एक गणपति 

    पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर द्वारा कहा गया है कि कोरोना वायरस अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है. इसलिए कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर अधिक भीड़ ना करें. इसी प्रकार एक गांव एक गणपति की स्थापना करके पुलिस प्रशासन को सहयोग दें. गांवों के सरपंच, पुलिस पाटिल तथा जनप्रतिनिधियों ने इस के लिए अगुवाई करनी चाहिए. यह आहवान भी पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर ने किया है.