Municipality negligence open pole, Green Valley Society submerged in water for two days

    अकोला. अकोला मनपा द्वारा सीमा वृद्धि की गयी क्षेत्र में बारिश का जल जमाव हुआ है. जिससे परिसर के नागरिकों में बीमारियां फैलने की संभावना बढ़ी है. इस ओर ध्यान देकर इससे राहत देने की मांग हो रही है. मनपा क्षेत्र की सीमाएं बढ़ाने के बाद सीमावर्ती क्षेत्रों में नागरिकों को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

    विशेष रूप से दुबेवाड़ी, न्यू तापड़िया नगर, खरप रोड अगर हम इन हिस्सों को देखें, तो समस्याएं और विकट हो जाती हैं. दो दिनों से जारी बारिश के कारण सड़कों से पानी बह रहा है. कई क्षेत्रों में बारिश का पानी जमा हो जाने से विभिन्न बीमारियों के फैलने की संभावना बढ़ी गयी है. लोग सोच रहे हैं कि दुकानों और घरों के आसपास जमा पानी से कैसे निपटा जाए. लेकिन मनपा की ओर से इस ओर गंभीरता से ध्यान नहीं दिया जा रहा है. 

    व्यवसाय करना हुआ मुश्किल

    न्यू तापड़िया नगर से गजानन महाराज मंदिर जाने वाली सड़क पर गुरुवार रात से ही पानी भर गया है. सड़क किनारे होटल, मशीनी काम की दुकानें, सिलाई की दुकानें, पंक्चर की दुकानों में पानी भर गया है और उनकी रोजी-रोटी पर संकट आ गया है. यह लोग अपना व्यापार नहीं कर पा रहे हैं क्योंकि दुकान के आसपास पानी जमा हो गया है. वह क्षेत्र जहां न्यू तापड़िया नगर में फ्लाईओवर उतरता है, उस क्षेत्र में पानी का एक तालाब सा बन गया है.

    इस क्षेत्र में हर जगह गड्ढों में पानी भरा देखा जा सकता हैं. मनपा तया स्थानों पर छिड़काव नहीं करता है. जिसके कारण मच्छरों का प्रकप काफी बढ़ गया है. सुअर दिन भर रुके हुए पानी में घूमते रहते हैं जिससे लोग हमेशा परेशान रहते हैं. पानी का बहाव बंद होने से पानी की निकासी नहीं हो पा रही है. नए निर्माणों के चलते पुराने नाले बंद कर दिए गए हैं. जिससे एक नई समस्या खड़ी हो गई है.

    चोपडे लेआउट में पानी जमा होने से कुछ दिन पहले मनपा ने इस क्षेत्र में एक बड़ा पाइप बिछाया और पानी जाने के लिए रास्ता खुला कर दिया लेकिन इतने भर से बात नहीं बन पा रही है. इसलिए अन्य क्षेत्रों में भी ध्यान देने की जरूरत है. सड़क पर मौर्य हार्डवेयर के सामने एक बड़ा गड्ढा बन गया है. इसमें पानी जमा होने से यहां से वाहन निकालना मुश्किल हो गया है.

    बीमारियों के बढ़ने की संभावना 

    हालांकि कोविड की दूसरी लहर फिलहाल नियंत्रण में है, लेकिन खतरा पूरी तरह टला नहीं है. अभी भी नए मामले सामने आ ही रहे हैं. वहीं डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियों ने सिर पर कहर बरपा रखा है. इसलिए साफ-सफाई पर पूरा ध्यान देने की जरूरत है. मनपा के स्वास्थ्य विभाग के साथ ही क्षेत्र के पार्षदों को भी नागरिकों की समस्याओं के समाधान के लिए पहल करनी चाहिए, ऐसी मांग नागरिकों द्वारा की जा रही है. 

    पाइप बिछाए जा रहे हैं

    हम शुक्रवार सुबह से इस क्षेत्र में हैं. साथ ही पाइप डालकर पानी की निकासी की जा रही है. एक दो दिन में क्षेत्र में रुके पानी की समस्या का समाधान कर दिया जाएगा. अमृत ​​योजना से भी काम होगा. साथ ही धामने के निवास के बगल में बने गड्ढे की समस्या का भी जल्द ही समाधान किया जाएगा.-हरीश काले, पार्षद