Mahavitaran
File Photo

Loading

अमरावती. जिले में विभिन्न श्रेणियों के बिजली उपभोक्ताओं पर 235 करोड़ रुपये का बिजली बिल बकाया होने के कारण महावितरण ने वित्तीय वर्ष के आखिरी महीने के पहले दिन से बिजली बिल वसूली अभियान तेज कर दिया है. इस अभियान में बकायेदार उपभोक्ताओं की बिजली आपूर्ति बाधित कर दी जाएगी. बिजली उपभोक्ताओं से अपील की गई है कि वे महावितरण की कठोर कार्रवाई से बचें और संपूर्ण बिजली बिल का भुगतान कर सहयोग करें.

शाखा, उप-विभाग, प्रभाग और जिला कार्यालयों को दिया टार्गेट

जिले में विभिन्न श्रेणी के करीब 7 लाख 58 हजार उपभोक्ताओं को महावितरण से बिजली आपूर्ति की जाती है. लेकिन जिले में फरवरी माह के अंत में विभिन्न श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं द्वारा 235 करोड़ रुपये बिजली बिल का भुगतान नहीं करने से महावितरण की वित्तीय समस्या उत्पन्न हो गई है. बकाया का आंकड़ा बहुत बड़ा है. साथ ही चूंकि यह वित्तीय वर्ष का आखिरी महीना है. महावितरण ने पहले दिन से बिजली बिल वसूली अभियान तेज कर दिया है. इस अभियान में वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हैं.

महावितरण के मुताबिक जिले की विभिन्न श्रेणियों में 235 करोड़ 75 लाख रुपये के बकाए में से 24 करोड़ 21 लाख रुपये का बकाया घरेलू उपभोक्ताओं पर है. व्यावसायिक उपभोक्ताओं को 5 करोड़ 29 लाख, औद्योगिक उपभोक्ताओं को 6 करोड़ 63 लाख, स्ट्रीट लाइट को 101 करोड़ 81 लाख, जलापूर्ति योजनाओं को 93 करोड़ 13 लाख और अन्य श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं को 4 करोड़ 69 लाख रुपये दिए जाएंगे. बकाया राशि और वसूली के अनुसार महावितरण के शाखा कार्यालय और उपविभाग, प्रभाग और जिला कार्यालय को बिजली बिल वसूलने का लक्ष्य दिया गया है.  प्रत्येक विभाग और उप-विभाजन ने तदनुसार एक अभियान की योजना बनाई है.

बकायेदारों की विद्युत आपूर्ति होगी बाधित

जिन ग्राहकों का बिजली बिल बकाया है और जो बिजली बिल भुगतान का जवाब नहीं देंगे, उनकी बिजली काट दी जाएगी. साथ ही रिकवरी में घाटा उठाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. यदि कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार, मारपीट, धक्का-मुक्की आदि कर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई जाती है तो इसे गंभीरता से लेते हुए संबंधित के विरुद्ध तत्काल आपराधिक कार्रवाई की जाएगी.

अवकाश के दिन खुले रहेंगे बिल भुगतान केंद्र

महावितरण ने अपना बिजली बिल संग्रहण अभियान तेज कर दिया है. इस अभियान में उन ग्राहकों की बिजली काट दी जाएगी, जो बिजली बिल का भुगतान नहीं करेंगे. साथ ही ग्राहकों को महावितरण की कठोर कार्रवाई से बचाने के लिए महावितरण के आधिकारिक बिजली बिल भुगतान केंद्र 31 मार्च तक सार्वजनिक अवकाश के दिन भी कार्यालय समय के दौरान खुले रहेंगे. इसके अलावा, ग्राहक महावितरण मोबाइल ऐप, महावितरण वेबसाइट के माध्यम से भी अपने बिजली बिल का भुगतान कर सकते हैं और ऑनलाइन बिजली बिल भुगतान पर छूट का लाभ उठा सकते हैं.