Navratri 2021
File Photo

    अमरावती. संभाग के पांचों जिलों में 6156 दुर्गा विसर्जन होगी. जिसमें से शहरी भाग में 1964 तथा ग्रामीण में 4192 दुर्गा का समावेश है. संभाग में 3 दिनों तक चलने वाली विसर्जन प्रक्रिया के लिए डीआयजी चंद्रकिशोर मीना के मार्गदर्शन में पांचों जिले के पुलिस अधीक्षकों ने कड़े पुलिस प्रबंध किए है. पूरे विसर्जन प्रक्रिया पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी.

    5 दिन चलेगी विसर्जन प्रक्रिया

    संभाग के पांचों जिलों में दशहरा के दिन से ही विसर्जन प्रक्रिया शुरु हो रही है. 15 से 17 अक्टूबर तक विसर्जन प्रक्रिया चलाई जाएगी. जिसके लिए संवेदनशील क्षेत्रों में कड़े बंदोबस्त व विसर्जन स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था की है. एसआरपीएफ व होमगार्ड का अतिरिक्त बंदोबस्त लगाया है 

    शहर में 16 को सर्वाधिक 275 दुर्गा विसर्जन

    शहर पुलिस आयुक्तालय के 10 थाना अंतर्गत 3 दिनों तक दुर्गा विसर्जन प्रक्रिया चलाई जाएगी. जिसमें 16 अक्टूबर को सर्वाधिक 275 दुर्गा विसर्जन किया जाएगा, जबकि 17 अक्टूबर को 140 दुर्गा मंडलों का विसर्जन होगा. दुर्गा व शारदा देवी सहित 460 मुर्तियों का विसर्जन होगा. शहर में प्रथमेश, छत्री तालाब, कोडेश्वर तालाब, बोर नदी व पेढ़ी नदी के पास कृत्रिम तालाब निर्माण कर विसर्जन की व्यवस्था की गई  है. यहां पुलिस चौकी, लाइट, ताड़पत्री, गोताखोरों की व्यवस्था की गई है. यहां 2 डीसीपी, 3 एसीपी, 60 पुलिस अधिकारी, 800 कर्मचारी बंदोबस्त में तैनात किए जाने की तैयारी है

    जिला निहाय मंडल

    जिला       नवदुर्गा मंडल   शारदा स्थापना

    अमरावती     1529         219

    अकोला       1144          174

    यवतमाल      2044         219

    बुलढाणा       960           10

    वाशिम         479           28

    कुल           6156           648