Death Sentence : Horrible act of merciless son, killed his mother then chopped off her body into pieces, court gave death punishment
File Photo

    धारणी. अधिकांश घटनाओं में हत्या को छिपाने के लिए दुर्घटनाओं का रुप देने का प्रयास किया जाता है, लेकिन धारणी तहसील के लवादा में इसके विपरित घटना उजागर हुई है, दुर्घटना को छिपाने के लिए एक आरोपी ने अपने मित्र की हत्या कर डाली. धारणी पुलिस ने इस हत्याकांड को उजागर किया है. मृतक अण्णा गंगाराम धान्डे (28,बासपानी, धारणी) है. 

    लावारिस मिली लाश

    13 अक्टूबर बुधवार को ग्राम लवादा के पास कोई दुर्घटना हुई है ऐसी जानकारी मिलते ही धारणी पुलिस निरीक्षक सुरेंद्र बेलखेडे दल बल के साथ घटनास्थल पहुंचे. पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण कर मृतक की शिनाख्त बासपाणी निवासी अण्णा गंगाराम धान्डे के रुप में हुई.  प्राथमिक जांच में यह मामला हत्या का होने की बात हुई. किसी ने घटनास्थल पर दुपहिया के टुकडे लाकर डाले है ऐसा दिखाई दिया.

    डाग स्काड ने लगाया सुराग

    धारणी पुलिस ने डागस्काड को घटनास्थल बुलाया. घटनास्थल पर पड़े वाहन के टुकडों से डाग स्काड ने दुर्घटनाग्रस्त बाइक का पता लगाया. यह वाहन रमेश उर्फ सुरेश दारशिंबे का था. पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हत्या की कबूली दी.जिनसे बताया कि दुर्घटना को छिपाने के लिए उसने हत्या को अंजाम दिया

    कैसे हुई घटना

    घटना के समय रमेश व अण्णा बाइक पर सवार होकर गांव की ओर जा रहे थे, तभी चेन टुटने से बाइक दुर्घटनाग्रस्त हो गई. जिसमें अण्णा के सिर पर गहरी चोट लगने से वह बेहोश हो गया. अण्णा मर जाने से अब उसे पुलिस पकड़कर ले जाएगी ऐसा डर मन में आने से रमेश ने बेहोश अवस्था में अपने मित्र को सड़क से उठाकर जंगल में ले गया.

    यहां मृतक का शर्ट निकालकर उसे फांसी देने का प्रयास किया. इतना ही नहीं तो एक रस्सी से उसका गुप्तांग बाधने का प्रयास किया. आरोपी रमेश उर्फ सुरेश ने उसके हाथ पर लिखा नाम पत्थर से कुचलकर मिटाने का प्रयास किया. धारणी पुलिस ने आरोपी रमेश के खिलाफ हत्या के तहत मामला दर्ज किया. एएसपी शशीकांत सातव के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक सुरेंद्र बेलखेडे जांच कर रहे है. 

    रिश्तेदारों का आरोप

    मृतक अण्णा धांडे के रिश्तेदार मेलघाट के विधायक राजकुमार पटेल के निवासस्थान पहुंचे. जिन्होंने बताया कि पिछले मंगलवार को अण्णा धांडे के काम से 3 मित्र बासपाणी स्थित उनके घर आये थे. पानी पीने के बाद अण्णा व उनके मित्र वहां से चले गए. अब वह तीन मित्र कौन थे, उन्होंने अण्णा को कहां ले गए थे यह प्रश्न उनके समक्ष उपस्थित किया.