हादसा: दो दिनों से युद्धस्तर पर खोज शुरू, नहीं मिले वर्धा नदी में डूबे 8 लोग

    वरुड़. श्रीक्षेत्र झुंज स्थित वर्धा नदी में मंगलवार को नाव पलटने से 11 लोग डूब गए. जिसमें से 3 लोगों के शव बरामद किये जा चुके है, शेष 8 लोगों का दो दिनों से कोई पता नहीं चल पाया है. बचाव दल युद्धस्तर पर जुटा है. 

    नाव का भी अता-पता नहीं 

    इस बचाव दल में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, जिला आपत्ति व्यवस्थापन का खोजी दस्ता ऐसे तीन दल झुंज में डूबे लोगों को खोज रहे है. मंगलवार को खुद मौके पर पहुंची कलेक्टर पवनीत कौर ने बचाव दल को खोज में कोई कसर बाकी नहीं रखने के आदेश दिए. बुधवार को दूसरे दिन रेस्क्यू आपरेशन को प्रात: 6बजे शुरुआत हुई.

    जो शाम तक जारी रही. लेकिन इस दौरान एक भी शव नहीं मिला. नाव भी नहीं मिल पाई है. पुलिस, तहसीलदार, ग्रामसेवक, पटवारी. मछलीमार व मत्स्य विभाग के अधिकारी मदद कार्य में जुटे है. स्थानीय नागरिकों की मदद से वर्धा नदी में यह खोज चल रही है.   

    पानी के तेज प्रवाह से दिक्कतें 

    मंगलवार रात्रि से शुरू बारिश के कारण नदी का प्रवाह तेज हो गया है. मध्य प्रदेश से आने वाली नदी के कारण प्रवाह अत्याधिक बढ़ गया है. नदी में तहसील की सबी नदियों का पानी समाता है. बुधवार को शाम तक खोजबीन चली. अंधेरा हो जाने से खोज कार्य थमा. बचाव दल के सदस्यों की व्यवस्था झुंज के एक आश्रम में की गई है. खुद उपजिलाधिकारी डा. नितिन व्यवहारे पल-पल की जानकारी ले रहे है. 

    तीन जिलों का पर्यटन स्थल 

    नागपुर, अमरावती व वर्धा की सीमा पर स्थित वरुड़ तहसील का झुंज पर्यटन क्षेत्र है. तीनों जिलों से झुंज में पर्यटक आते है. लेकिन हादसे के चलते मंगलवार से झुंज में नागपुर व अमराती मार्ग बंद किया गया है. पुलिस ने बैरीकेट्स लगाकर पुलिस बंदोबस्त बिठा दिया है.

    मासूम समेत तीनों की अंतेष्टि

    वरुड़ तहसील के तिवसाघाट निवासी मासूम वंशिका शिवणकर (2 वर्ष) का उसके गांव तिवसाघाट में अंतिम संस्कार किया गया. नाव चलाने वाले नारायण मटरे का गाडेगांव व किरण खंडाले का वरुड़ तहसील के लोणी में अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान शोक छाया रहा. पूरे राज्य में हड़कंप मचा देने वाले इस दर्दनाक हादसे की दखल लेकर राज्यमंत्री बच्चू कडू, विधायक प्रताप अडसड, देवेंद्र भुयार, पूर्व विधायक नरेशचंद्र ठाकरे, वर्धा के पूर्व विधायक अमर काले, वर्धा के सांसद रामदास तडस समेत राजस्व व पुलिस प्रशासन के अधिकारी घटना स्थल पर डेरा जाले है.