Banking loan waiver scheme Hundreds of farmers are deprived of benefits

    चुरणी. मेलघाट के अतिदुर्गम क्षेत्र की इंडियन बैंक की जारीदा शाखा के कर्मचारियों को लापरवाह करार देते हुए उन पर किसानों को फसल कर्ज माफी से वंचित रखने आरोप किसानों ने लगाया है. किसानों की शिकायत है कि कर्ज माफी के बारे में पूछने पर बैंक अधिकारी गोलमोल जवाब देते है.

    इस मामले में सघन जांच कर किसानों को न्याय दिलाने की मांग युवक कांग्रेस महाराष्ट्र प्रदेश सचिव राहुल येवले, नरेंद्र टाले, नारू मुंडे, संजू अलोकार, विनोद धिक्कार, लालचंद्र सावलकर, नमाय टोटा, संकु भुसूम, बालाराम बेठेकर, संदीप मुंडे, आदि ने की है. इस संदर्भ में जिलाधीश से शिकायत की गई है. 

    घरकुल से काट रहे रकम

    किसानों का आरोप है कि शाखा प्रबंधक मोहाडीकर व सहायक योगेंद्र कर्ज धारकों के घर जाकर कोरे बुकलेट व स्लिप वर हस्ताक्षर लेकर नवीनीकरण कर रहे है. किसानों के सेविंग खाते व घरकुल की रकम से किश्त काटी जा रही है. किसान कर्ज माफी योजना के लिए पात्र होने के बावजूद वसुली व नवीनीकरण का काम किया जा रहा है. सह-अधिकारी गडलिंग से संपर्क करने पर बता चला कि बैंक ने किसानों की जानकारी संबंधित पोर्टल पर अपलोड नहीं की है. इसलिए किसानों को इस योजना से वंचित होना पड़ रहा है.

    बैंक कर्मचारी एक कोरी पर्ची पर हस्ताक्षर और अंगूठे का निशान ले रहा है. केवल कागजी कार्रवाई से किसानों का भुगतान और विड्राल दिखाकर सरकार को गुमराह कर रही है. बैंक करीब 200 कर्जदार किसानों की कर्जमाफी का नवीनीकरण कर जारी वर्ष में बैंक को कर्ज देकर सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाया गया.