कार्रवाईः विधायक राणा के फालोअप पर कलेक्टर का एक्शन

    • चौरसिया की खदान पर स्थगनादेश (प्लस-बाटम मस्ट) 

    अमरावती. मासोद स्थित मौजा परसोड़ा में अवैध उत्खनन व ब्लास्टिंग के मामले में गिट्टी माफिया निलेश चौरसिया की 3.77 हेक्टेयर क्षेत्र में खदान पर स्थगनादेश जारी कर दिया गया है. जिला प्रशासन की जांच समिति की रिपोर्ट पर अतिरिक्त जिलाधीश रामदास सिध्दभट्टी ने गुरुवार को यह आदेश जारी किए. इस मामले में विधायक रवि राणा द्वारा लगातार फालोअप लिये जाने से जिला प्रशासन ने यह एक्शन लिया है. 

    अवैध उत्खनन व ब्लास्टिंग का मामला 

    मासोद के परसोड़ा क्षेत्र में चौरसिया स्टोन इंडस्ट्रीज में अवैध उत्खनन व ब्लास्टिंग को लेकर मासोद व परसोड़ा ग्रामवासियों की शिकायतों के बाद विधायक राणा ने 11 दिसंबर 2021 को खनिकर्म अधिकारियों के साथ खदान में छापामार कार्रवाई की थी. जिसके बाद जिला प्रशासन ने इस मामले में जांच के लिए समिति बनाई. जांच समिति की रिपोर्ट पर चौरसिया को नोटिस जारी कर चौबीस घंटों में स्पष्टीकरण मांगा गया था. लेकिन चौरसिया ने 23 दिसंबर 2021 को पत्र भेजकर 15 दिनों का समय मांगा. लेकिन प्रशासन ने 24 दिसंबर को दोपहर 3 बजे तक स्पष्टीकरण पेश करने के आदेश दिए, लेकिन चौरसिया ने समयावधि के बाद भी संतोषजनक स्पष्टीकरण नहीं दिया. जिससे उनकी खदान पर स्थगनादेश जारी किया. अतिरिक्त जिलाधीश सिद्धभट्टी ने दो पन्नों के आदेश पर यह स्थगनादेश दिया है.       

    स्टोन केशर का नापजोख 

    परसोड़ा मासोद की खदान में अवैध उत्खनन को लेकर विवादास्पद गिट्टी माफिया निलेश चौरसिया के स्टोन क्रशर की नापजोख करने बुधवार को नागपुर से पहुंचे खनिकर्म विभाग के विशेष दल को सूक्ष्म निरीक्षण में 45 करोड़ का गिट्टी भंडार मिलने का दावा विधायक राणा ने किया है. जिससे इतना ही राजस्व चुराए जाने का तथ्य सामने आया है. राणा ने बताया कि नागपुर डीजीएम की टीम ने सुबह 9 से शाम 6 बजे तक चौरसिया के अवैध उत्खनन को लेकर अत्याधुनिक उपकरणों से नापजोख की. गिट्टी का अवैध भंडार जब्त करने के आदेश इस टीम ने जिला प्रशासन को दिए. 

    45 करोड़ का गिट्टी भंडार मिला 

    भूवैज्ञानिक खनिकर्म विभाग की जानकारी के अनुसार चौरसिया के स्टोन क्रेशर में यह नापजोख अगले 4-5 दिनों तक चलेगा. इस कार्रवाई के दौरान विधायक रवि राणा, तहसीलदार संतोष काकडे, लोनिवि के अभियंता भटकर, मंडल अधिकारी चतुर, पटवारी निर्मल, खनिकर्म रिपोर्ट क्लर्क लंगडे, भूवैज्ञानिक खनिकर्म विभाग के नापजोख अधिकारी वरहेकर व श्री खंते के अलावा युवा स्वाभिमान के आशीष कावरे,अभिजीत देशमुख, सचिन भेंडे, पराग चिमोटे, निलेश भेंडे,अंकुश ठाकरे, मिलिंद कहाले, प्रशांत चांभारे, इरफान भाई, अजय घुले, अजय मोरया, गौतम हिरे,अश्विन उके,राहुल काले,शुभम उंबरकर उपस्थित थे.