The crisis is not stopping farmers

    परतवाड़ा. महावितरण के उपविभागीय कार्यालय के चांदूर बाजार, दर्यापुर व अचलपुर तहसील अंतर्गत किसानों के कृषि पंप कनेक्शन काटने की कार्रवाई तेज कर दी है. बिजली वितरण कंपनी ने धामनगांव गढ़ी, असदपुर, बोरगांव, रासेगांव, शिरजगांव, करजगांव, ब्राम्हनवाड़ा थड़ी और माधान के 500 से अधिक किसानों के बिजली कनेक्शन काट दिए हैं. जिससे रबी फसलों पर खतरा मंडराने लगा है. प्याज,गेंहू और सब्जियां खतरे में पड़ गई हैं.

     बगैर बिल दिए ही काट रहे बिजली

    क्षेत्र के महावितरण कंपनी पीड़ित किसानों ने बताया कि बिजली कंपनी ने बिजली बिलों के भुगतान की कोई जानकारी नहीं दी. बिजली बिलों का वितरण तक नहीं किया गया और किसानों के कृषि कनेक्शन बिना किसी पूर्व सूचना के काट दिए गए हैं. बिजली गुल होने से फसलों की सिंचाई नहीं हो पा रही है. बिजली कंपनी द्वारा ली गई यह भूमिका किसानों और उपभोक्ताओं के हित में नहीं रहने का आरोप किसानों का हैं.

    बकाया बिल भरे किसान

    कृषि और घरेलू ग्राहकों को एसएमएस भेजकर डायरेक्ट बिल भेजा जाता है और समय पर बिल का भुगतान करने को कहा जाता है. किसानों द्वारा बिलों का भुगतान नहीं होने से कृषि पंपों की बिजली आपूर्ति काटी जा रही है. किसान बकाया बिजली बिलों का भुगतान कर बिजली आपूर्ति सुचारू कराए.-संजय श्रृंगारे, कार्यकारी अभियंता, अचलपुर