बोर नदी का पुल बना जानलेवा- दो दिन में  2 दुर्घटनाएं ,1 की मौत

टाकरखेड़ा शंभू. अमरावती से बोराला मार्ग पर बोर नदी का  पुल जान लेवा बन गया है. गत 2 दिनों में यहां पर 2 दुर्घटनाएं हुई. जिनमें 1 व्यक्ति को अपनी जान गंवानी पड़ी.  संकरे पुल पर निर्माण कार्य जारी होने से यह दुर्घटनाओं की संख्या लगातार बढ रही हैं. इस घटना से पहले की भी अन्य कई घटनाओं  में वाहन चालक घायल हुए हैं. इस नागमोड़ी पुल पर वाहनों को नियंत्रण करना चालकों के लिए टेढ़ी खीर है. ऐसे में तुरंत पुल की मरम्मत की जाए यह मांग पूर्व ग्राम पंचायत सदस्य विजय गोहत्रे ने की है. उन्होंने जिलाधिकारी को पत्र दिया है. 

नागमोड़ी आकार बना मुसीबत

निवेदन मं बताया गया है कि अमरावती से चांदुर बाजार बोराला,  शिराला मार्ग या पर संकरे पुल का निर्माण किया गया है. जबकि इस मार्ग पर यातायात बढ़ा है. इस पुल पर राज्य स्तर का यातायात रहता है.सडक चकाचक होने से वाहन चालक तेज गति से वाहन चलाते हैं. लेकिन सीधा न बनाते हुए नागमोड़ी आकार में बनाए जाने से वाहन चालकों को दिक्कत होती है.  गत 2 वर्षों में इस पुल से सैकडों दुर्घटनाएं हुई. दर्जनों वाहन चालकों  की जान गई. जिससे  बोरी नदी के पुल पर संतरे का ट्रक पलटने से पूरा ट्रक नदी में गिर गया. हालांकि इस दुर्घटना में कोई जीवित हानि नहीं हुई. 

लेकिन तीन पहले एक मोटर साइकिल इन पुल से पटल गई. जिसमें युवक की मौत हुई. नागमोडी इस पुल पर सामने से आ रहे वाहन चालक दिखाई नहीं देते जिससे दुर्घटनाएं बढ़ रही है. ऐसे में पुल की चौड़ाई बढ़ायी जाए यह मांग नागरिकों ने की है. इस संदर्भ में जिलाधाकारी के साथ ही पालकमंत्री यशोमति ठाकुर, सांसद नवनीत राणा, सार्वजनिक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण आदि को निवेदन भेजा है. 

तीव्र आंदोलन की चेतावनी

इस पुल से यातायात बढ़ा है. पुल के संकरे व नागमोड़ी होने से दुर्घटनाएं बढ़ रही है. दो दिन में दो दुर्घटनाएं होना अपने आप में गंभीर है. प्रशासन को इसकी दखल लेकर इसकी चौड़ाई बढ़ना जरुरी है. शीघ्र इस मामले में ध्यान न दिए जाने पर गांव वासी तीव्र आंदोलन करेंगें.-विजय गोहत्रे, पूर्व ग्रामपंचायत सदस्य, बेसखेडा