File Photo
File Photo

    चुरणी. विदर्भ के नंदनवन के रूप में जाने जाती पर्यटन नगरी चिखलदरा और मेलघाट के आसपास के क्षेत्र में भीषण ठंड है. सोमवार की सुबह पारा 5 से 6 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है. जबकि सोमवार को जिले का औसत न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

    मेलघाटवासियों के साथ परिसर सटे परतवाडा, अचलपुर तहसील के कुछ गांवों के साथ धामनगांव गढ़ी, मल्हारा, वडगांव (फत्तेपुर), परसापुर पथ्रोट, अंजनगांव तहसील के पांढरी खानमपुर, दहीगांव रेचा, धाडी भी ठंड से प्रभावित हैं. उसी प्रकार चिखलदरा तहसील में, काटकुंभ, चुरणी, ​​बीबा, राहु खारी, पिपल्या, भांडुम, कारंजखेड़ा और अन्य गांव भी ठंड का कहर हैं.

    पर्यटकों का उत्साह कायम

    कड़ाके की ठंड में भी सैलानियों का उत्साह बरकरार है. इस समय अमरावती के ग्रामीण इलाकों में शीतलहर का प्रकोप है. चिखलदरा और उसके आसपास के क्षेत्र हमेशा अमरावती की तुलना में ठंडे होते हैं. सोमवार को यहां का तापमान इस साल अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है. भीषण ठंड के कारण गर्म कपडों का उपयोग व जगह जगह अलाव नजर आ रहे है. ठंड ज्यादा होने के बावजूद पर्यटक चिखलदरा पहुंच रहे हैं. ठंड में सैलानियों का उत्साह साफ नजर आ रहा था. 

    केला, संतरे का नुकसान

    पारा 5 डिग्री से नीचे आने के कारण रबी सीजन का चना, गेंहूं, जवस, मटर आदि फसलों को लाभ मिलेगा. इसमें कोई संदेह नहीं है. लेकिन अचलपुर, पथ्रोट, अंजनगांव तहसील के पांढरी खानमपुर खेत शिवार संतरा फलबाग के साथ केले के बागों को नुकसान होने की संभावना उत्पादकों द्वारा व्यक्त की जा रही है.