कोम्बिंग आपरेशनः लगातार बढ़ रही दंगाईयों की संख्या

    • 38 एफआइआर, अब तक 255 अरेस्ट (प्लस-लीड) 

    अमरावती. शहर में हुई हिंसा के बाद से शहर पुलिस ने धरपकड़ अभियान तेज रफ्तार से जारी रखा है. हिंसा को भड़काने वाले दोनों समुदाय के दिग्गज नेता से लेकर पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की सिलसिला जारी है. इस क्रम में 5 दिनों के भीतर कुल 38 एफआइआर दर्ज किए है, जिसमें अब तक 250 से अधिक आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

    पूर्व मंत्रियों पर और एफआइआर

    13 नवंबर को राजकमल चौक पर उत्तेजित भाषण देकर दो समुदाय के बीच द्वेष निर्माण करने के मामले में सिटी कोतवाली पुलिस ने और 4 नए मामले दर्ज किए है. जिसमें पूर्व पालकमंत्री प्रवीण पोटे, पूर्व मंत्री डा.अनिल बोंडे, नगरसेवक तुषार भारतीय, शिवराय कुलकर्णी के खिलाफ अलग-अलग 4 मामले दर्ज किए है.

    15,000 से अधिक पर मामले दर्ज

    शुक्रवार की तोड़फोड़ के बाद शनिवार को शहर बंद के दौरान भड़की हिंसा में 38 प्रकरण में दोनों समुदाय के 15 हजार से अधिक लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज किया है. जिसमें पूर्व पालकमंत्री प्रवीण पोटे, पूर्व मंत्री डा.अनिल बोंडे, पूर्व मंत्री जगदीश गुप्ता, महापौर चेतन गावंडे, नगरसेवक तुषार भारतीय तथा दूसरे गुट से जय संविधान के अध्यक्ष डा.अलीम पटेल, पूर्व पार्षद इमरान अशरफी, पूर्व पार्षद आरीफ हुसैन सहित दोनों गुटों के 250 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. बाद में इन सभी को जमानत मिल गई. 

    फिजूल घुमने वाले अरेस्ट

    कर्फ्यू के दौरान रामपुरी कैम्प व राजकमल चौक परिसर में फिजूल घुमने वाले लोगों पर पुलिस ने कार्रवाई की है. गाडगे नगर पुलिस ने रामपुरी कैम्प परिसर से शुभम हरिश वसंतानी (23, कृष्णा नगर), सुनील लोकचंदाणी (21, रहाटगांव) तथा  सुनील लोकचंदानी ( रहाटगांव) पर कार्रवाई की गई. इसी तरह कोतवाली पुलिस ने राजकमल चौक पर आकाश अशोक धाकडे (29), सोपान अरवट (अचलपुर) तथा सचिन धनराज छापनी (25, राहुल नगर) पर कर्फ्यू के आदेश का उल्लंघन करने के तहत मामला दर्ज किया है.