पथराव, तोड़फोड़ के बाद अमरावती सिटी में कर्फ्यू; आगजनी, आसू गैस के गोले दागे

    अमरावती. त्रिपुरा की घटना को लेकर शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय द्वारा निकाले गए मोर्चे के दौरान हुई तोड़फोड़ और पथराव के अलावा दो दुकानों में लूटपाट की घटना के निषेध में शनिवार को भाजपा के आवाहन पर आहूत बंद हिंसक रहा. पथराव, तोड़फोड़ के चलते स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस ने उपद्रव मचाने वालों पर लाठीचार्ज किया.

    जबरदस्त तनाव के बीच सुबह 11 बजे से कर्फ्यू लगा दिया गया है. अगले आदेश तक सार्वजनिक स्थलों पर  4 से अधिक लोग इकठ्ठा होने पर कार्रवाई होगी. इस बीच राजकमल चौक पर दो मोपेड जला दी गई. नमूना में विशिष्ट समुदाय के लोग हाथों में तलवार लेकर पथराव करने वालों की दिशा में पत्थर बरसाते देखे गये.

    इस तरह आमने-सामने आए दंगाईयों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने आसू गैस के गोले दागे.  इसके पूर्व सुबह 10 बजे शहर के प्रमुख व्यावसायिक क्षेत्रों में बम के आंदोलनकारियों ने दुकानों के ग्लो साइन बोर्ड फोड़ दिए. जमकर पथराव भी किया. राजकमल क्षेत्र में एक पान ठेला की तोड़फोड़ कर इसे पलटा दिया.           

    शांति बरते,अफवाहों पर ध्यान ना दें  पालकमंत्री एड यशोमति ठाकुर ने शुक्रवार को उपद्रव मचाने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए जाने के बाद से स्थिति पर निगरानी रख रही है. शनिवार को सुबह बंद के दौरान पथराव व तोड़फोड़ की खबर के बाद उन्होंने अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करने के निर्देश दिए.

    गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील से भी अतिरिक्त कुमूक व एस आरपीएफ की टुकड़ी भेजने का अनुरोध किया. पालकमंत्री ने सभी से शांति बरतने के साथ ही अफवाहों पर ध्यान ना देने का आव्हान किया है. शहर व जिले में भाईचारा व राष्ट्रीय एकात्मकता की परंपरा को अबाधित रखने की बिनती की है.