समृद्धि के लिए खोदे गड्ढे में डूबकर बालक की मौत, शेंदुरजना खुर्द की घटना

    तलेगांव दशासर. स्थानीय पुलिस स्टेशन अंतर्गत आने वाले ग्राम शेंदुर्जना खुर्द शिवार में मोती कोलसा नदी के गहराईकरण के गड्ढे में गिरने से एक 12 वर्षीय मासूम की मौत होने का मामला शनिवार की रात सामने आया है. मृतक मयूर हरीशचंद्र कालमेघ (12) है. प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार की शाम लगभग 6 बजे मयूर अपने खेत से माता, पिता के साथ लौटते समय मोती कोलसा नदी के गहराईकरण किये गये गड्ढे में पैर फिसलकर गिर गया. जिसमें उसकी डूबने से मौत हो गयी. मृतक के पिता ने बालक को बचाने का काफी प्रयास किया, लेकिन उसकी जान बच पाई.

    इससे पहले भी डूबा था एक व्यक्ति

    उल्लेखनीय है कि समृद्धि महामार्ग हेतु मोती कोलसा नदी पात्र को गहरा किया गया है. इससे पहले भी रौशन धोटे नामक व्यक्ति की भी जान इस नदी पात्र की गहराईकरण ने ली थी. इस घटना को लेकर शेंदुर्जना खुर्द ग्राम वासियों में इस मासूम बालक की मौत को लेकर शोक व्यक्त किया जा रहा है. तो वही इस मोती कोलसा नदी पात्र और कितनी जानो की बलि लेगा, यह सवाल उठाया जा रहा है. मृतक बालक के पिता अल्प भूधारक है. लिहाजा संबंधित समृद्धि महामार्ग ने उन्हें आर्थिक सहायता देने की मांग शेंदुर्जना खुर्द ग्राम वासियों ने की है. पुलिस ने आकस्मिक मृत्य का मामला दर्ज किया है.