File Photo
File Photo

    अमरावती.  महात्मा ज्योतिराव फुले किसान कर्ज मुक्ति योजना के तहत 3 हजार 14 किसान लाभार्थियों को कर्जमाफी की राशि बैंक प्रमाणीकरण न होने के कारण नहीं मिल पाने की संभावना है. इसके साथ ही 4 हजार 837 किसानों ने कर्जमाफी को अनुदान न मिल पाने को लेकर अपनी शिकायतें भी सहकार विभाग को सौंपी है.

    इन शिकायतकर्ता किसानों में से कई का निपटारा किए जाने की बात विभाग की ओर से कही गई है. योजना में 10 हजार 885 ऐसे कर्जदार किसान है जो टैक्स अदा करते है. इसलिए उन्हें भी कर्जमाफी के अनुदान से वंचित रहना पडेगा. ऐसी जानकारी सहकार विभाग की ओर से दी गई है. 

    1,34,569 किसानों का ऑनलाईन पंजीयन 

    महात्मा ज्योतिबा फुले किसान कर्जमुक्ति योजना वर्ष 2019 से ही जिले में चलाई जा रही है. इस योजना में 1 लाख 34 हजार 569 किसानों ने ऑनलाईन पंजीयन किया है. इनमें से 1 लाख 23 हजार 680 किसान खाताधारों ने कर्जमाफी के लिए यूनिक नंबर भी प्राप्त किए है. 3 हजार 14 किसान खातों का प्रमाणीकरण नहीं करा पाए है.

    जिन 4 हजार 837 किसानों की ओर से शिकायतें दी गई थी.उनमें से 1 हजार 954 मामलों को सुलझाया जा चुका है. जबकि 114 मामले प्रलंबित है. तहसील स्तरीय समिति में इनमें से कुल 2705 शिकायतों का निपटारा किया है और 64 प्रक्रियाशील है.