dengue

    परतवाड़ा. तहसील अंतर्गत शहरी तथा ग्रामीण अस्पताल इन दिनों डेंगू-बुखार ग्रस्त मरीजों से भर गए है. विगत् दिनों से डेली 15 से 20 मरीज मिल रहे है. जिससे अधिकांश अस्पताल मरीजों से पटे पड़े है. शहर के एक निजी लैब से प्राप्त टेस्ट रिपोर्ट के तहत हर दिन 8 से 10 नए डेंगू के मरीज मिल रहे हैं.

    तेजी से बढ़ रहे मरीज 

    तहसील क्षेत्र में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. जिससे शहर के निजी अस्पतालों व उप जिला अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है. डेंगू के लक्षण तब दिखाई देते हैं. जब बुखार से पीड़ित मरीज के खून की जांच निजी चिकित्सक द्वारा की जाती है. ग्रामीण क्षेत्रों में भी डेंगू के मरीजों के रक्त के नमूनों की जांच की जा रही है.

    यह रोग मच्छरों द्वारा फैलता है, इसलिए मच्छरों की उत्पत्ती रोकने की अपील स्वास्थ्य विभाग कर रहा है. एक तरफ जहां कोविड से संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है, वहीं डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से चिंता जाहिर की जा रही है. अभी अचलपुर उप जिला अस्पताल में 81 डेंगू मरीजों का इलाज चल रहा है. निजी अस्पतालों में भी सबसे ज्यादा डेंगू के मरीज हैं.

    डेंगू एक वायरल बीमारी 

    डेंगू यह रोग एडिज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है. यह रोग सफेद रक्त कोशिकाओं में कमी और तेज बुखार का कारण बनता है. इस बीमारी का तुरंत इलाज जरूरी है.-डा. विक्रम लामखड़े, परतवाड़ा

    डेंगू के 81 मरीज

    मार्च से जुलाई तक 81 मरीजों को इलाज के लिए उप जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इनमें से शहरी क्षेत्र में 48 और ग्रामीण क्षेत्र में 33 मरीज भर्ती हुए. इस संबंध में नगर पालिका को पत्र दिया गया है.-डा. सुरेंद्र ढोले, अधीक्षक उप-जिला अस्पताल अचलपुर

    रोजाना डेंगू के मरीज

    शहर में निजी और सरकारी डाक्टरों द्वारा मरीजों के रक्त सैम्पल परीक्षण के लिए भेजे जाते है. प्रतिदिन 7 से 8 मरीज डेंगू से संक्रमित होते हैं. एक माह में ऐसे 100 से 125 मरीज जा चुके हैं.-नीलेश काकड़े, संचालक अंजलि लैब परतवाड़ा

    जांच में डेंगू के मामले ज्यादा 

    रोगी की बीमारी का निदान करने के लिए लैब के माध्यम से रक्त परीक्षण किया जाता है. पिछले एक महीने में 16 से अधिक मरीज डेंगू से संक्रमित मिले हैं.- स्मिता चित्रकर, चित्रकार लैब, परतवाड़ा