Representational Pic
Representational Pic

    • पुलिस प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

    धामणगांव रेलवे. राज्य तथा जिले में दिन ब दिन महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जा रहे है. इसके बावजूद अभी तक शक्ति कानून पर अमल नहीं किए जाने से राज्य सरकार और कितनी महिलाओं की बलि लेगी, यह सवाल भाजपा महिला आघाडी शहराध्यक्षा नलिनी मेश्राम ने किया है. इस संदर्भ में उन्होंने रविवार को दत्तापुर पुलिस स्टेशन के थानेदार को ज्ञापन सौंपा.

    शक्ति कानून लागू करें

    मुंबई के साकीनाका क्षेत्र में एक महिला पर दुष्कर्म कर अनैसर्गिक कृत्य किया गया. उपचार के दौरान इस महिला की मौत हुई. जिले के येवदा में भी एक गर्भवती महिला को आत्महत्या करनी पडी. यह घटनाएं गणेशोत्सव के दौरान घटी है. राज्य सरकार केवल अपनी प्रतिक्रिया देकर अलग हो जाती है, लेकिन शक्ति कानून पर अमल क्यों नहीं किया जाता. इसलिए महिला व लडकियों पर अत्याचार करनेवाले दोषियों को फांसी की सजा देने का प्रावधान इस कानून में था.

    विधि मंडल में यह समिति नियुक्त की गई लेकिन उस पर अमल नहीं किया गया. इसलिए सरकार ने यदि शक्ति कानून पर अमल कर आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग शहराध्यक्षा नलिनी मेश्राम ने की है. ज्ञापन सौंपते समय इसमय पार्षद दर्शना ठाकुर, रिता बोरगांवकर, अर्चना ठाकरे, सीमा देवतले, ज्योति पाटिल, अर्चना गोडबोले, विद्या राउत आदि के साथ सामाजिक संगठन की महिलाएं उपस्थित थी.