मेट्रो सा चमक रहा कठोरा मार्ग- पूर्व पालकमंत्री पोटे की संकल्पना को मूर्तरुप

अमरावती. शहर में सड़क विकास का काम जोरों पर है, ऐसे में कठोरा नाका से लेकर कठोरा गांव तक का मार्ग भी मेट्रो जैसा चमक रहा है. विधान परिषद सदस्य तथा पूर्व पालकमंत्री प्रविण पोटे पाटिल की संकल्पना से साकार हो रहा यह मार्ग नागपुर – मुंबई महामार्ग की तर्ज पर इस मार्ग का कांक्रीटिकरण किया गया है. इस मार्ग पर पेविंग ब्लॉक का काम अंतिम चरण में है. इसके अलावा छिट पूट काम शेष है. लेकिन प्रविण पोटे समय समय पर प्रत्यक्ष समीक्षा कर काम को युध्दस्तर पर पूर्ण करने में जुटे है.

आकर्षण का केंद्र बने स्ट्रीट लैंप

इस मार्ग पर लगे आधुनिक स्ट्रीट लैंप आकर्षण का केंद्र बने है. यात्रा के दौरान चार किलोमीटर तक एक जैसे लैंप देखे जाने से मेट्रो सिटी का अहसास होता है. इस प्रकार सड़क विकास से कठोरा मार्ग से शहर में दाखिल होनेवाले यात्री सुरक्षीत और आरामदायी सफर की अनुभूति कर रहे है. साथ ही व्यापारीक परिवहन भी सुलभ हो गया है.     

केंद्रीय निधी से निर्माण

शहर के लगभग सभी मार्ग केंद्रीय मार्ग निधि (सीआरएफ) के बन रहे है. इसी निधि के तहत कठोरा नाका से लेकर कठोरा गांव तक लगभग 4 किलोमीटर का यह मार्ग बन रहा है. पोटे ने बताया कि पंचवटी से नवसारी, पंचवटी से इर्विन, चपरासी पुरा से वडाली, बडनेरा रोड आदि समेत अन्य मार्गों का निर्माण भी किया जा रहा है. 

चहुंओर से जगमगाएगा शहर

शहर से सटे अधिकतर मार्गों पर पर्याप्त प्रकाश नहीं होने से दुर्घटनओं की संख्या बढ़ गई थी. जिसे देखते हुए स्ट्रीट लाईट लगाने का निर्णय लिया गया. पोटे ने बताया कि शहर में दाखिल होने वाले सभी मार्गों पर स्ट्रीट लाइट के लिए निधि मंजूर किया गया है. जिसकी टेंडर प्रक्रिया भी पूर्ण की गई है. सालभर में सभी काम पूर्ण होने के बाद शहर चहूंओर से जगमगाएगा. 

शहर विकास को मिलेगी चालना

केंद्रीय सड़क निधि समेत अन्य विभिन्न योजनाओं अंतर्गत सड़क कांक्रीटीकरण के लिए करोड़ों की निधि उपलब्ध कराई गई है. जिसका काम युध्दस्तर पर शुरु है. उसी प्रकार शहर में दाखिल होनेवाले विभिन्न मार्गों पर स्ट्रीट लाइट लगाने का काम शुरु है. सड़क विकास के इन कार्यों से शहर के विकास को भी निश्चित ही चालना मिलेगी.-प्रविण पोटे, पूर्व पालकमंत्री