New year celebrations in Mumbai, police issued guidelines, these are preparations ...
Image: Google

अमरावती. इस वर्ष अन्य त्यौहारों की तरह वर्ष 2020 की बिदाई तथा नए वर्ष का स्वागत भी कोरोना के साए हो रहा है. जिसके चलते सरकार ने मंगलवार को गाइड लाइन जारी कर सादगी से नए वर्ष का स्वागत करने का आह्वान किया है. 31 दिसंबर तथा नव वर्ष स्वागत के मद्देनजर जारी मार्गदर्शक सूचना के अनुसार बाहर ना निकलते हुए घरों में रहकर ही नए साल का स्वागत करने की अपील की गई है. सरकार द्वारा  22 दिसंबर से 5 जनवरी तक पहले ही रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाईट कर्फ्यू लागू की है. 

धार्मिक, सांस्कृतिक आयोजन ना करें

नव वर्ष के स्वागत के उपलक्ष्य में किसी प्रकार के धार्मिक, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने मनाई की गई है. उसी प्रकार शोभायात्रा पर भी पाबंदी लगाई गई है. कोरोना संक्रमण को देखते हुए 60 वर्ष से अधिक के नागरिक तथा 10 वर्ष से कम आयु वाले बच्चों को सुरक्षा व स्वास्थ्य की दृष्टि से घर से बाहर ना निकलने की भी हिदायत दी गई है. 

धार्मिक स्थलों पर ना करें भीड़

नए वर्ष के पहले दिन अनेक लोग धार्मिक स्थलों पर जाते है. ऐसे समय भीड़ ना करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. इसके अलावा जिला प्रशासन, महानगरपालिका तथा पुलिस,  प्रशासन द्वारा जारी नियमों के पालन का भी आह्वान किया गया है. उसी प्रकार शहर में होटल, बार, रेस्टारेंट शुरू रखने का समय भी रात 10 बजे तक ही होने से जिला व पुलिस प्रशासन ने सभी संचालकों को समय पर अपना प्रतिष्ठान बंदा करने की सूचना दी है.

आतिषबाजी से बाज आए

नए साल के स्वागत के जोश में आतिषबाजी करने पर भी सरकार ने प्रतिबंध लगाया है. ध्वनि प्रदूषण के मद्देनजर सभी नियमों का कड़ा पालन करने की सूचना दी गई है. न्यू ईयर पर होटल व रेस्टारेंट में प्रति वर्ष जोरशोर से होने वाली तैयारियां धरी की धरी रह गई है. जिससे सैकड़ों होटल व रेस्टारेंट कर्मियों के रोजगार पर भी मार पड़ी है.

कोरोना के नाईट कर्फ्यू के कारण यह संकट आने से होटल व रेस्टारेंट वालों में शासन की नीति को लेकर जबरदस्त रोष देखा जा रहा है. एक तरफ लोग बाजारों में भीड़ करते बाज नहीं आ रहे है. सोशल डिस्टेंसिंग का दूर-दूर तक कोई अता-पता नहीं है. वहीं दूसरी ओर इस तरह होटल व रेस्टारेंट पर रात 10 बजे का प्रतिबंध लगाना कहां तक योग्य है. इस बारे में अमरावती जिला परमिट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नितिन मोहोड़ ने नाराजी जताई है.    

ऑनलाइन डिलवरी पर रहेगा जोर

निर्बंधों के चलते अधिकांश होटल व रेस्टारेंट वालों ने ऑनलाइन डिलवरी की तैयारियां ‍शुरू कर दी है, लेकिन रात 10 बजे के बाद पुलिस पहरा होने से ऑनलाइन डिलवरी भी मुश्किल होने से स्वीगी व जोमेटो के सेल्समैन पर भी संकट देखा जा रहा है.