Celebration

अमरावती. नए साल का स्वागत करते हुए थर्टी फर्स्ट के दिन ऐतिहासिक स्थानों पर पार्टियों, आतिषबाजी और शराब पीने पर प्रतिबंध लगाने की मांग बुधवार को ‘हेल्पिंग हैंड’ इस सामाजिक संस्था ने जिलाधीश शैलेश नवाल को एक निवेदन सौंपकर की है. 

आदेश जारी करने की मांग

किलें, पर्यटन स्थल, ऐतिहासिक और सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान, शराब और नशीली दवाओं के साथ थर्टी फर्स्ट मनाया जाता है. इसी तरह, रात में शराब के प्रभाव में ड्राइविंग से दुर्घटनाएं हो सकती है. नए वर्ष के स्वागत के नाम पर शराब पीनेवाली युवा पीढ़ी में नाबालिगों और महिलाओं का भी समावेश है. रात भर जोरदार आतिशबाजी से प्रदूषण होता है.

उसी प्रकार तेज आवाज, अश्लील डांस, नाच-गाने से कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है. जिसका पुलिस प्रशासन पर अतिरिक्त बोझ बढता है. इन सब के मद्देनजर प्रतिबंध के आदेश जारी करने की मांग भी निवेदन में की गई है. इस समय भुषण दलाल, बरखा बोज्जे, अथर्व नागपुरे, प्रीति देशपांडे, वृंदा मुक्तेवार, दीपक ठाकरे, आकाश कवीश्वर, सुभाष गौरखंडे, मंगेश अर्डक,  वसंत गादेकर आदि उपस्थित थे.