mla bacchu kadu, nivedan

    अमरावती. विदर्भ सिंचाई विकास महामंडल, नागपुर अंतर्गत निम्न पेढ़ी प्रकाल्पातंर्गत सैकड़ों लाभार्थी अनुदान की प्रतीक्षा थे. शासकीय प्रक्रिया के अनुसार निर्धारित अनुदान मिलने में विलंब होने से लाभार्थियों ने राज्यमंत्री बच्चू कडू से न्याय मांगा. जिससे राज्यमंत्री ने सानुग्रह अनुदान देने के निर्देश नियामक मंडल को दिए. इस तरह पुनर्वास के लाभार्थियों को बड़ी राहत मिली है. 

    शहापुर के लए 255.50 करोड़ का प्रस्ताव

    विदर्भ सिंचाई विकास महामंडल, नागपुर अंतर्गत निम्न पेढ़ी प्रकल्प भातकुली तहसील में पीएमकेएसवाय योजना में आने वाले प्रकल्पों को पूर्णत: पांच बाधित गांव अलणगाव, कुंड खुर्द, कुंड सर्जापुर, गोपगव्हाण व हातुर्णा में बेघर प्रकल्पग्रस्तों, जिन्हें पुनर्वसीत गांवों में भूखंड़ किए गए है.

    उन्हें काली मिट्टी में निर्माण कार्य के लिए प्रति परिवार 1 लाख रुपए इस तरह कुल मिलाकर 49 लाख रुपए का सानुग्रह अनुदान देने के आदेश नियामक मंडल को दिए है. साथ ही अकोट तहसील के शहापुर बृहत लघु प्रकल्प की द्वितीय संशोधित प्रशासकीय मान्यता कीमत 255.50 करोड़ रुपए का प्रस्ताव नियामक मंडल को दिया गया है.  

    वासनी प्रकल्पग्रस्तों के लिए 7.14 करोड़

    अचलपुर तहसील के वासनी मध्यम प्रकल्प योजना अतंर्गत पुनर्वास में प्रस्तावित नए गांवों को 6 से 7 फीट गहराई तक काली मिट्टी होने से निर्माण कार्य में अतिरिक्त खर्च के तौर पर प्रति खातेदार 1 लाख रुपए देने के लिए कुल 7 रोड़ 14 लाख रुपए की राशि का सानुग्रह अनुदान देने का प्रस्ताव नियामक मंडल को दिया गया है. इस निर्णय से प्रकल्पग्रस्तों को अनुदान मिलने का मार्ग प्रशस्त हो गया है.