Video: lightning strike in Kolhapur captured on camera, watch dreadful scene in viral video

    अमरवती. बीते कुछ दिनों की कडी धूप के बीच शनिवार को शहर समेत जिले के विभिन्न तहसीलों में अचानक बारिश हुई. वापसी की यह बारिश भी कहर ढा रही है. धामणगांव तहसील के आजनगांव में गाज गिरने से एक युवक की मौत हुई है. इसी तरह विभिन्न तहसीलों में खेत में काटा जा रहा सोयाबीन भी भिगने से किसानों का काफी नुकसान हुआ है.  

    युवा मजदूर पर वज्रपात

    धामणगांव तहसील में फिलहाल खरीप सीजन के सोयाबीन कटाई का काम जोरो पर है. शनिवार की दोपहर करीब 1 बजे के करीब बारिश ने अचानक दस्तक दी. इस दौरान तहसील के आजनगांव में युवा खेत मजदूर किरण थाले (24) की गाज गिरने से मौत हो गई. आजनगांव खेत शिवार में किरण हमेशा की तरह मंगेश लंबली के खेत में मजदूरी कर रहा है. उनके खेत में सोयाबीन निकालने का काम शुरू था. अचानक बारिश आने से सोयाबीन को ढकने ताडपत्री ला रहा था, तभी वज्रपात हुआ. जिसमें उसकी जान चली गई. इस घटना से परिसर में शोक व्याप्त है. किरण का शव ग्रामीण अस्पताल में पीएम के लिए भेजा गया है. 

    शहर में सुबह से बदरीला मौसम

    बारिश को लेकर मौसम विभाग का अनुमान सटीक साबित हुआ है. जिले में 15 अक्टूबर के बाद से बरसात की संभावना मौसम विभाग ने व्यक्त की थी. शुक्रवार को शहर में सुबह से ही बदरीला मौसम था. दोपहर को अचानक बरसात हुई. इस बारिश से कृषि उपज मंडी में रखा सोयाबीन भी भीग गया है.

    चिखलदरा में फिर मूसलाधार

    बीते पंधरा दिनों के अवकाश के बाद शुक्रवार को पर्यटननगरी सहित तहसील के कई इलाकों में जोरदार बारिश का आगमन हुआ है. जिसमें तेज हवाओं के साथ मेघ गर्जना भी हुई, जिससे फिर किसानो पर संकट मंडरा गया है. उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष इस तरह बारिश के लौटने के बाद यहां का मौसम में और भी सर्द हो जाता है. बारिश के बाद घना कोहरा भी पर्यटकों को आकर्षित करता है. इस बारिश को लेकर होटेल व्यवसायियों में उत्साह देखा जा रहा है. नवरात्रि उत्सव बीत जाने के बाद फिर बड़ी संख्या में पर्यटकों के आगमन का अनुमान है.

    सैकडों बेबी केयर किट भीगे

    नांदगांव पेठ में नवजात शिशुओं की सुरक्षा के लिए महिला व बाल कल्याण विभाग द्वारा मुहैया कराई जानेवाली बेबी केयर किट में बारिश का पानी घुसने से विभाग का लापरवाह कामकाज उजागर हुआ है. यह लापरवाही छिपाने के लिए कर्मचारियों ने भीगे हुए किट वितरीत किए जाने से लाभार्थियों में रोष है. जिसकी लिखित शिकायत जिलाधिकारी से भी की है. नवजात शिशुओं की सुरक्षा के लिए महिला एवं बाल कल्याण विभाग द्वारा अभिभावकों को बेबी केयर किट प्रदान की जाती हैं. इसमें तेल, पाउडर, बॉडी लोशन, खिलौने, साबुन, कंबल, गद्दे शामिल हैं.

    आंगनवाड़ी के माध्यम से सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद संबंधित विभाग द्वारा अभिभावकों को किट सौंपी जाती है. गुरूवार को नांदगांव पेठ के कुछ लाभार्थी गांधी चौक स्थित महिला एवं बाल कल्याण विभाग के कार्यालय में किट लेने पहुंचे तो कर्मचारियों ने लाभार्थियों को पानी से भिए किट सौंपे. लाभार्थियों ने किट खोली तो पाया कि किट में पानी है और सारा सामान पानी से भीगा है. तो लाभार्थियों ने दूसरी किट मांगी लेकिन वहां सैकड़ों किट पानी से भीगी हुई थीं. अधिकारियों और कर्मचारियों ने घटना को छिपाने की कोशिश की लेकिन नाराज लाभार्थियों ने जिला कलेक्टर से शिकायत की.