Soldier Avinash Uikey Death (1)

Loading

अंबाडा (सं). भारतीय सैनिक दल के जवान अविनाश अंबादास उईके (24) को सैकड़ों नागरिकों की उपस्थिति में नम आंखों से विदाई दी गई. शासकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. भारतीय जवान अमर रहे, अमर रहे इस गगनभेदी घोषणाओं से गणेशपुर गूंज उठा.

भाई से मिलने जा रहा था अमरावती

मोर्शी तहसील के गणेशपुर निवासी आदिवासी समाज का नवयुवक अविनाश अंबादास उईके तीन वर्ष पहले भारतीय सैन्य दल में ज्वाइन होकर जम्मू में कार्यरत था. वह 1 महीने की छुट्टी लेकर गांव आया था. जब वह अमरावती में पढ़ रहे अपने भाई से मिलने जा रहा था, तब रहाटगांव चौक पर वाहन एमएच 27 डीजी 3944 को एक ट्रक ने टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. उसके साथ सवार विशाल तुमडाम (19) गंभीर जख्मी हो गया. विशाल तुमडाम का फिलहाल अमरावती में इलाज चल रहा है. जब अविनाश उइके का शव गणेशपुर लाया गया तो हजारों की संख्या में ग्रामीण उनके अंतिम दर्शन करने और अपना दुख व्यक्त करने पहुंचे. यह भावना व्यक्त की कि आज का दिन काला दिन था. 

पुलगांव से भारतीय सेना के अधिकारियों और कमांडो ने अविनाश उइके के पार्थिव शरीर पर तिरंगा चढ़ाया और पूरे गांव से अंतिम यात्रा निकाली. उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार मानी रोड स्थित उनके खेत में किया गया. इस अवसर पर गणेशपुर की सरपंच गंगा सितकारे ने ग्राम पंचायत की ओर से शामियाना एवं पेयजल की व्यवस्था की. मोर्शी पुलिस निरीक्षक श्रीराम लांबाडे, मंडल अधिकारी उके, पटवारी जानराव काले, पुलिस पाटिल कुलदीप देशमुख, धनंजय पांडव, विजय सितकारे, वसंत साकोम, अविनाश चुनोडे उपस्थित थे. अविवाहित अविनाश के पश्चात परिजन में मां, पिता, 2 भाई का भरापुरा परिवार है.