Complaint against Grain Distribution Officer of Manpa councilors, memorandum submitted to District Magistrate

    अमरावती. राशन कार्ड धारकों को सरकारी राशन दूकानों से आपूर्ति किया जाने वाला अनाज घटिया दर्जे का है. यह अनाज खाने योग्य नहीं होने का आरोप लगाते हुए भारिप बहुजन महासंघ ने घटिया चना दाल निवासी उपजिलाधीश डॉ. नितिन व्यवहारे को भेंट दी. साथ ही इस गंभीर मामले को लेकर भारिपा बहुजन महासंघ ने राशन की दूकानों की जांच कर सख्त कार्रवाई की मांग की है.

    आंदोलन की चेतावनी

    कोरोना के मद्देनजर नागरिकों के आर्थिक संकट के चलते सरकार ने राशन दूकान से कार्ड धारकों को निशुल्क अनाज का वितरण किया. लेकिन राशन की दूकान से घटिया अनाज आपूर्ति की गई है. पोला त्यौहार पर रहाटगांव स्थित सरकारी अनाज की दूकान से ग्राहकों को चना दाल का वितरण किया गया. यह दाल बहुत खराब गुणवत्ता की है और खाने योग्य नहीं है.

    इसी तरह भारिपा बहुजन महासंघ का कहना है कि पूरे जिले में घटिया गेहूं, चावल और मक्का की आपूर्ति की जा रही है. इसलिए इसकी जांच कराई जाए, राशन की दुकान से अच्छी गुणवत्ता वाला अनाज उपलब्ध कराया जाए, अन्यथा, भारिप बहुजन महासंघ वंचित आघाडी की ओर से तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी निवेदन में दी गई. इस समय बाबा गायकवाड, श्रीधर खडसे, प्रफुल वाकोडे, हिम्मत वानखडे, मदन गायकवाड, सतीश चक्रे, नंदकुमार खंडारे आदि उपस्थित थे.