Sanjeev Palande, personal secretary of Anil Deshmukh, who was arrested by ED has been suspended by Maharashtra government
File

    मुंबई: ईडी (ED) और सीबीआई (CBI) की जांच में घिरे महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (Former Home Minister Anil Deshmukh) की मुश्किलें और भी बढ़ती जा रही हैं। पिछले दिनों  100 करोड़ रुपये की वसूली मामले में सीबीआई द्वारा किए गए अनिल देशमुख के 12 ठिकानों पर एक साथ रेड के बाद गुरुवार को सीबीआई ने बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख किया है और कोर्ट से मामले की जांच में महाराष्ट्र सरकार का सहयोग न मिलने की बात कही है। 

    एएनआई के मुताबिक़, सीबीआई ने बॉम्बे हाईकोर्ट से कहा, महाराष्ट्र सरकार को हाईकोर्ट के स्पष्ट आदेश के बावजूद अनिल देशमुख के मामले की जांच कर रही सीबीआई टीम के साथ सहयोग नहीं कर रही है। सीबीआई ने अदालत में आरोप लगाया कि, मुंबई के एक एसीपी सहयोग करने के बजाय इस मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी को धमका रहा हैं।

    गौरतलब है कि, एंटीलिया मामले में पूर्व पुलिस कमिश्नर के एक पत्र से महाराष्ट्र में सियासी भूचाल आ गया था। परमबीर सिंह ने CM उद्धव ठाकरे को चिट्टी लिखकर महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर करप्शन के गंभीर आरोप लगाए थे। अनिल देशमुख पर हर महीने 100 करोड़ रुपए की डिमांड करने के आरोप लगे हैं। इस मामले में अब ईडी जांच कर रही है। साथ ही अब सीबीआई भी इस मामले में अपनी अलग से जांच कर रही है।  

    बता दें कि, सीबीआई ने इससे पहले महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख से जुड़े महाराष्ट्र में कुल 12 ठिकानों पर रेड की थी। इसके अलावा दो पुलिस अधिकारियों के ठिकाने पर भी एक छोपमारी की गई थी।