Anil Deshmukh, Sachin Waze appeared before the Chandiwal Commission which is investigating allegations of corruption
File Photo: ANI

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को एक बार फिर से चांदीवाल आयोग (Chandiwal Committee) ने जुर्माना लगाया है। एएनआई के अनुसार, चांदीवाल आयोग ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया क्योंकि उनके वकील बर्खास्त मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Waze) की जिरह के लिए मौजूद नहीं थे। जुर्माना सीएम राहत कोष (CM Relief Fund) में जमा कराया जाएगा।इससे पहले अनिल देशमुख के खिलाफ आयोग ने पिछले दिनों पेशी वारंट जारी किया था और बर्खास्त पुलिसकर्मी सचिन वाजे को भी तलब किया गया था। दोनों को क्रमश: 16 दिसंबर और 20 दिसंबर के लिए हाज़िर होने के लिए कहा गया था।

    दरअसल भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहे चांदीवाल आयोग के सामने सोमवार को एक बार फिर से अनिल देशमुख और सचिन वाजे पेश हुए थे। देशमुख पर मुंबई (Mumbai) के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Former Mumbai Police Commissioner Parambir Singh) ने भ्रष्टाचार (Corruption) के गंभीर आरोप लगाए थे। देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली के आरोप लगे थे। देशमुख फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं, उन्हें ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक केस में गिरफ्तार किया गया था।

    एंटीलिया के पास विस्फोटक सामग्री बरामदगी मामले के बाद मार्च में मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाए गए सिंह ने आरोप लगाया था कि देशमुख ने पुलिस अधिकारियों से शहर में बार और रेस्तरां से प्रति माह 100 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के लिए कहा था। केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय सिंह द्वारा देशमुख के खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच कर रहे हैं।