Anil Deshmukh
File Photo: ANI

    मुंबई: 100 करोड़ रुपये की वसूली के गंभीर आरोपों से घिरे महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। गुरुवार को कोर्ट ने देशमुख की न्यायिक हिरासत और बढ़ा दी है। एएनआई के अनुसार, देशमुख की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए और बढ़ा दी गई है। बता दें कि, देशमुख को ईडी ने पिछले साल 2 नवंबर को उनके खिलाफ दर्ज जबरन वसूली और मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering Case) के आरोपों के सिलसिले में गिरफ्तार किया था।

    देशमुख फिलहाल मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं। इससे पहले मुंबई की एक विशेष अदालत (Court) ने देशमुख की उस अर्जी को खारिज कर दिया था जिसमें कथित धन शोधन मामले में तकनीकी आधार पर जमानत देने का अनुरोध किया गया था। देशमुख ने अपनी अर्जी में दलील दी थी कि धन शोधन निवारण कानून के तहत मामलों की सुनवाई करने वाली विशेष अदालत ने उन्हें आगे की न्यायिक हिरासत में भेजने से पहले ईडी द्वारा दाखिल आरोप पत्र का संज्ञान नहीं लिया।

    देशमुख ने अर्ज़ी में कहा था कि इसलिए वह तकनीकी आधार पर (डिफॉल्ट) जमानत के हकदार हैं। ईडी ने अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि आरोप पत्र निर्धारित समय के भीतर दाखिल किया गया था। हालांकि कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी थी।