Aurangabad Municipal Corporation

    औरंगाबाद. शहर के गरीब और जरुरतमंद छात्र-छात्राओं को अंग्रेजी माध्यम का गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा (Quality Education) देने के लिए के केंद्रीय माध्यमिक शिक्षण मंडल (Central Board of Secondary Education) का  सीबीएससी स्कूल शुरु करने का निर्णय माहानगरपालिका प्रशासक (Municipal Administrator) आस्तिक कुमार पांडेय (Astik Kumar Pandey) ने लिया है।

    इस निर्णय के तहत माहानगरपालिका के उस्मानपुरा (Osmanpura) और गारखेडा परिसर (Garkheda Campus) में स्थित स्कूल में यह सुविधा उपलब्ध करायी गयी है इन दोनों स्कूलों में सीबीएससी प्रवेश के लिए शहर के नागरिकों का काफी प्रतिसाद मिल रहा है। आज तक उस्मानपुरा स्कूल में 24  और गारखेडा के स्कूल में 25 छात्रों  का प्रवेश हुआ है। प्रवेश के प्रवाह को देखकर इन दोनों स्कूल में जल्द ही प्रवेश को लेकर हाउसफुल्ल का बोर्ड दिखाया देगा। यह दावा माहानगरपालिका के उपायुक्त डॉ. संतोष टेंगले ने किया।

    उन्होंने बताया कि इन दोनों स्कूलों में छात्रों के लिए जरुरी सभी मूलभूत सुविधा उपलब्ध है। एलकेजी,यूकेजी, फर्स्ट और सेकंड यह चार क्लासेस इन स्कूल में शुरु किए गए है। जिन बच्चों को सीबीएससी से शिक्षा लेने की इच्छा है, उन्हें एलकेजी, यूकेजी, फर्स्ट और सेकंड इन चार क्लासेस में मुफ्त  प्रवेश दिया जा रहा है। माहानगरपालिका स्कूल में कई शिक्षक काफी होनहार और छात्र प्रिय है। इन शिक्षकों में से ही चयन कर 25  से 30 शिक्षक सीबीएससी के क्लासेस लेने के लिए चयनित किए है। इन सभी शिक्षकों को समय समय पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह सभी शिक्षक सीबीएससी पाठयक्रम सिखाते है। इन दोनों स्कूल में मुफ्त प्रवेश प्रक्रिया जारी  है।

    सीबीएससी  क्लासेस बेहतर रुप से चलाने और स्कूल की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सभी स्तर के छात्र-छात्राओं को प्रवेश मिले, हर अभिभावक को इन दोनों स्कूलों में अपना पन लगे, इस हेतु से प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय  के मार्गदर्शन  में अतिरिक्त आयुक्त बीबी नेमाने, उपायुक्त संतोष टेंगले, शिक्षणाधिकारी रामनाथ  थोरे, सांस्कृतिक अधिकारी संजीव  सोनार, केंद्रीय मुख्याध्यापक अहमद पटेल और शशिकांत उबाले तथा सभी शिक्षक मेहनत ले रहे है।