कोरोना पीड़ितों की बढ़ती संख्या से औरंगाबाद वासी चिंतित, गुरुवार को मिले 382 मरीज

    औरंगाबाद : एक तरफ सर्दी के मौसम में आसमान में छा रहे बादल और दूसरी तरफ कड़ाके की ठंड से औरंगाबाद (Aurangabad) वासी (Residents) ठिठूर रहे है। कड़ाके की ठंड के बीच शहर में गुरुवार को 382 कोरोना पीड़ित मरीज (Corona-Affected Patients) मिलने से शहर वासी चिंतित है। वर्तमान में सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 1788 पर पहुंचा है। शहर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने पर महानगरपालिका प्रशासन (Municipal Administration) मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह सक्रिय हो चुका है।

    शहर में बीते एक सप्ताह से कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। बुधवार को शहर में 410 मरीज पॉजिटिव पाए जाने के बाद गुरुवार को 382 मरीज पाए जाने से प्रशासन में खलबली मची हुई है। उधर, कल के मुकाबले शहर में पॉजिटिव रेट 1 प्रतिशत कम हुआ है। प्रशासन के पास कोरोना के पहले दो लहरों का अनुभव होने से मरीजों को तत्काल स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैय्या कराना प्रशासन को आसान साबित हो रहा है। शहर में बीते एक सप्ताह से मरीजों की संख्या में इजाफा होने से महानगरपालिका प्रशासन ने सरकारी इंजीनियरिंग महाविद्यालय  के लड़के-लड़कियों के छात्रावास में कोविड केयर सेंटर शुरु किया है। उधर, महानगरपालिका प्रशासन ने कोरोना पीड़ित मरीजों से हर दिन संपर्क करने के लिए वॉर रुम शुरु किया है। वॉर रुम में  कार्यरत डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी मरीजों से हर दिन संपर्क कर रहे है। 

    मौसम के बदले मिजाज से अस्पताल मरीजों से फुल  

    शहर में मौसम ने मिजाज बदलने से सर्दी, जुकाम, बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है। बुखार या जुकाम आने पर महानगरपालिका प्रशासन द्वारा टेस्टिंग बढ़ाने के चलते शहर में मरीजों की संख्या में इजाफा होने का दावा महानगरपालिका के अधिकारी ने किया है। गुरुवार को मिले 382 मरीजों में 18 से 50 साल के उम्र के सबसे अधिक 267 मरीज पाए गए है। वहीं, 50 साल से अधिक पीड़ित मरीजों की संख्या 86 है। 5 से 18 साल के उम्र के 29 बच्चे पाए गए है। इसमें 253 पुरुष और 129 महिलाएं शामिल है। शहर में अचानक कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ने से शहरवासी चिंतित है। कडाके की ठंड के बीच आसमान में हर दिन बादल छा रहे है। जिससे छोटे-बड़े अस्पताल मरीजों से भरे पड़े है। महानगरपालिका प्रशासन द्वारा टेस्टिंग पर जोर देने के चलते मरीजों की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है। वर्तमान में जो मरीज कोरोना पीड़ित पाए जा रहे है, और जिनके पास होम आयसोलेशन की सुविधा नहीं है, उन मरीजों को चिकलथाना परिसर में स्थित मेल्ट्रान कोविड केयर सेंटर में भरती किया जा रहा है। 

    जल्द शुरु होंगे 5 नए कोविड केयर सेंटर 

    मरीजों की संख्या में इजाफा के बाद प्रशासन ने और 5 कोविड केयर सेंटर शुरु करने का नियोजन शुरु किया है। चार दिन पूर्व ही महानगरपालिका कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने बताया था कि आगामी एक पखवाड़े में कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो सकता है। मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच प्रशासन ने मनुष्यबल भरती करने तैयारी शुरु की है। तत्काल डॉक्टर, स्वास्थ्य सेवक,  नर्सेस की भरती करने की प्रक्रिया शुरु की जा चुकी है।